कन्सास सिटी : अमेरिका के मिसौरी में रेस्तरां में हुई संदिग्ध लूटपाट की घटना के दौरान गोलीबारी में तेलंगाना के 26 साल के एक छात्र की मौत हो गई। स्थानीय अखबार 'द कन्सास सिटी स्टार' के मुताबिक, मिसौरी यूनिवर्सिटी का छात्र शरत कोप्पू को शुक्रवार को जेस फिश एंड चिकन मार्किट में शाम लगभग सात बजे गोली मारी गई। वह इस रेस्तरां में पार्ट टाइम काम करता था।

पुलिस ने रेस्तरां के भीतर गोलीबारी से कुछ मिनट पहले संदिग्ध का एक वीडियो भी जारी किया है और लोगों से संदिग्ध को पहचानने को कहा है। कोप्पू सॉफ्टवेयर इंजीनियर था और वह मास्टर डिग्री की पढ़ाई करने जनवरी में ही अमेरिका आया था।

फोटो सोशल मीडिया से साभार
फोटो सोशल मीडिया से साभार

मृतक शरत के चचेरे भाई रघु चौडावरम ने शव को अमेरिका से भारत लाने के लिए पैसे इकट्ठा करने के लिए गोफंडमी अकाउंट शुरू किया और इसके जरिए तीन घंटे में 25,000 डॉलर जुटाए।

मंत्री केटीआर, तलसानी श्रीनिवास यादव, कडियम श्रीहरि और महापौर बोंतु राम मोहन ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। नेताओं ने आज मृतक परिवार क घर गये और परिजनों को सांत्वना दी।

यह भी पढ़ें :

तेलंगाना की प्रेमिका ने AP में प्रेमी के मकान के सामने दिया धरना

जेल में विचाराधीन कैदी ने की खुदकुशी, चोरी के आरोप में भेजा गया था जेल

रघु ने गोफंडमी अकाउंट में लिखा, "उसके (शरत) हर किसी की तरह ही सपने थे वह अमेरिका में कुछ बड़ा करना चाहता था। उसका सेंस ऑफ ह्यूमर कमाल का था और वह हमेशा लोगों को हंसाता था और हर किसी की मदद के लिए तैयार रहता था।"

फोटो सोशल मीडिया से साभार
फोटो सोशल मीडिया से साभार

रेस्तरां में मौजूद एक कर्मचारी ने कैन्ससा सिटी स्टार को बताया कि संदिग्ध ने भूरे रंग की शर्ट पहन रखी थी, जिस पर सफेद रंग की पट्टियां थीं। उसने पैसे मांगे और गोली चला दी। कर्मचारी ने बताया, "इस दौरान लोग खुद को बचाने के लिए यहां-वहां भागे। कोप्पू भी भागा तो संदिग्ध ने उसकी पीठ पर गोली मार दी।"

फोटो सोशल मीडिया से साभार
फोटो सोशल मीडिया से साभार

कोप्पू ने अस्पताल पहुंचते ही दम तोड़ दिया। यूएमकेसी ने शनिवार को जारी बयान में कहा, "हम इस दुख की घड़ी में शरत, उसके परिवार और दोस्तों के प्रति सहानुभूति जताते हैं।"

अमेरिका में मारे गए छात्र के शव को वापस लाएगी तेलंगाना सरकार

हैदराबाद : अमेरिका में संदिग्ध लुटेरे द्वारा गोली मारकर मौत के घाट उतारे गए भारतीय छात्र शरत कोपू के शव को वापस लाने के लिए तेलंगाना सरकार इंतजाम करेगी। राज्य के एक मंत्री ने रविवार को इस बात की जानकारी दी।

यूनिवर्सिटी आफ मिसौरी-कंसास के 26 वर्षीय छात्र की मिसौरी राज्य के कंसास शहर स्थित एक रेस्तरां में शुक्रवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

तेलंगाना के एनआरआई मामलों के मंत्री के. टी. रामाराव अपने कैबिनेट साथी काडियम श्रीहरी और टी. श्रीनिवास यादव के साथ रविवार को हैदराबाद के अमीरपेट स्थित कोपू के घर पहुंचे और परिवार के सदस्यों को सांतवना दी।

रामाराव ने बाद में संवाददाताओं को बताया कि सरकार दो दिन के भीतर शव को हैदराबाद वापस लाने के लिए सभी खर्चो को वहन करेगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विदेश मंत्रालय और अमेरिका में भारतीय दूतावास के संपर्क में है।

मंत्री ने कहा कि अगर कोपू के परिवार के सदस्य अमेरिका जाकर शव लाना चाहते हैं तो सरकार उनकी यात्रा के लिए भी सभी जरूरी इंतजाम करेगी।

कोपू वारंगल शहर के रहने वाले थे। उनका परिवार फिलहाल हैदराबाद में रहता है। वह एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे और अपनी उच्च शिक्षा के लिए वह जनवरी में अमेरिका गए थे।