चेन्नई : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन( इसरो) ने आज कहा कि वह चंद्रयान-2 उपग्रह को अप्रैल में प्रक्षेपित करने की तैयारी में है। इस बार वह चांद की सतह की पड़ताल और अध्ययन के लिए एक रोवर भेजने की योजना बना रहा है। यदि इसरो चंद्रयान-2 को अप्रैल में प्रक्षेपित नहीं कर पाता है तो चांद पर देश के दूसरे मिशन को अक्तूबर तक भेजने की तैयारी करेगा।

ये भी पढ़ें--

दिसबंर में कार्टोसेट उपग्रह को प्रक्षेपित करेगा इसरो

इसरो दिसंबर में एक साथ 30 उपग्रहों का प्रक्षेपण करेगा

प्रक्षेपण में सालाना 12 प्रतिशत की वृद्धि करेगा इसरो : कुमार

इसरो के अध्यक्ष के शिवन ने यहां पत्रकारों को बताया, ‘‘ हम चंद्रयान-2 को अप्रैल में प्रक्षेपित करने की तैयारी में हैं। यदि हम ऐसा करने में अक्षम रहते हैं तो हम इसे अक्तूबर तक प्रक्षेपित करने की कोशिश करेंगे।'' शिवन ने कहा कि वैज्ञानिक संचार उपग्रह जीसैट-6 को इस महीने के अंत में जीएसएलवी- एफ08 से प्रक्षेपित करने की तैयारी कर रहे हैं।