वाशिंगटन : दशकों में पहली बार नासा एक ऐसा प्रायोगिक सुपर सोनिक विमान बनाने वाला है, जो अपनी श्रेणी के आम विमानों की तरह शोर नहीं करता। 'एक्स-प्लेन्स' मिशन बहुत महत्वपूर्ण आंकड़े मुहैया करवाने वाला है जो आवाज की गति से भी तेज उड़ान भरने वाले यात्री विमानों की संकल्पना को सच साबित कर सकेगा।

नासा ने अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन एयरोनॉटिक्स कंपनी को 24.75 करोड़ डॉलर का ठेका दिया है। कंपनी इस एक्स- प्लेन का निर्माण कर उसे 2021 तक नासा को सौंपेगी।

एरोनॉटिक्स के क्षेत्र में नासा के सहायक प्रशासक जयवोन शिन ने कहा, "इस स्तर पर एक्स-विमानों की डिजाइनिंग और उड़ान भरने का समर्थन करना बेहद उत्साहवर्द्धक है।'' उन्होंने कहा, "सभी के हित में सुपर सोनिक उड़ानों की तकनीकी बाधाओं को दूर करने की हमार परंपरा जारी है।''

इस एक्स-प्लेन का निर्माण 2016 में दिये गए ठेके के दौरान लॉकहीड मार्टिन द्वारा तैयार डिजाइन के आधार पर किया जाएगा। प्रस्तावित विमान 94 फुट लंबा, 29.5 फुट विंगस्पैन और ईंधन के साथ 32,300 पौंड वजनी होगा। यह 55,000 फुट की ऊंचाई पर उड़ान भरेगा और इसके कॉकपिट में सिर्फ एक पायलट होगा। सामान्य तौर पर इसकी गति 1,512 किलोमीटर प्रतिघंटा होगी, जिसे अधिकतम 1,593 किलोमीटर प्रतिघंटा तक बढ़ाया जा सकेगा।