नॉटिंघम : भारतीय टीम गुरुवार से इंग्लैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की शुरुआत करने जा रही है। टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा को लगता है कि यह सीरीज उनकी टीम को अगले साल इंग्लैंड में ही होने वाले विश्व कप की तैयारी के लिए अपने आप को परखने का मौका देगी।

भारत इस सीरीज में लगातार दो टी-20 सीरीज जीत कर आ रहा है। उसने आयरलैंड को दो मैचों की टी-20 सीरीज में 2-0 से मात दी तो वहीं इंग्लैंड को तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 2-1 से हराया था।

मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में रोहित ने कहा, "विश्व कप एक साल बाद है और इस लिहाज से यह सीरीज हमें यह बात जानने में मदद करेगी की हम कहां खड़े हैं।" उन्होंने कहा, "हमें इस सीरीज से पता चलेगा कि हमारे लिए किस तरह के संयोजन काम करेंगें, एक टीम के तौर पर आगे जाने के लिए हमें किन जगह काम करने की जरूरत है।"

इसे भी देखें..

भारतीय फिरकी में फंसे ‘सफारी’, 118 रन पर ढेर हुई पूरी टीम

बूमराह ने डिकॉक को कुछ यूं किया परेशान.... देखें वीडियो

अगले साल विश्व कप भी इंग्लैंड में ही होना है। ऐसे में भारत के लिए यह दौरा खासकर यह सीरीज अपने आप को परखने का बेहतरीन मौका है।

भारत की बल्लेबाजी में गहराई है। उसके लगभग सभी बल्लेबाज फॉर्म में हैं। रोहित शर्मा और लोकेश राहुल दोनों ने हाल ही में टी-20 में शतक जमाए हैं। वहीं कप्तान विराट कोहली कुछ मौकों पर अर्धशतक लगाने से चूक गए थे।

इन तीनों के अलावा ऊपरी क्रम में शिखर धवन का बल्ला भी अच्छा बोल रहा है। रोहित, राहुल और धवन के रहते एक बार फिर कोहली के लिए सलामी जोड़ी का चुनाव करना सिर दर्द होगा।

अगर तीनों खिलाड़ियों को अंतिम एकादश में जगह मिलती है तो यह देखना होगा की सलामी जोड़ी कौन होगी। अगर कोहली धवन और रोहित को ही उतारते हैं तो पूरी संभावना है कि राहुल तीसरे और खुद कप्तान चौथे नंबर पर आएं जैसा वो टी-20 में कर चुके हैं।

चोटिल अंबाती रायुडू के स्थान टीम में शामिल किए गए सुरेश रैना के रहने टीम को मजबूती मिलेगी। हालांकि उनके फॉर्म में निरंतरता की कमी देखी गई है। दिनेश कार्तिक के रूप में भी कोहली के पास मध्यक्रम को मजबूत करने के लिए एक और विकल्प है।

वहीं महेंद्र सिंह धोनी और हार्दिक पांड्या निचले क्रम को संभालेंगे। रोहित ने कहा है कि भारत ने इंग्लैंड में सीमित ओवरों में अच्छा प्रदर्शन किया है।

उन्होंने कहा, "एक टीम के तौर पर हमने इंग्लैंड में अच्छा प्रदर्शन किया है। हमने चुनौैतियों का अच्छा सामना किया है। इंग्लैंड टीम हालांकि हम पर दवाब डाल सकती है।"

सलामी बल्लेबाज ने कहा, "हमारे लिए जरूरी है कि हम अपनी क्षमता के अनुरूप और अपनी रणनीति के हिसाब से खेलें।" मैच के बारे में रोहित ने कहा कि विकेट की स्थिति से परे उनकी टीम लक्ष्य का पीछा करना पसंद करेगी।

उन्होंने कहा, "जब आप इस तरह की पिचों पर खेलते हो तो आप दूसरी पारी खेलना पसंद करते हो। टीम भी लक्ष्य का पीछा करना चाहेगी, लेकिन टॉस हमारे नियंत्रण में नहीं है।"