सोची(रूस) : एडिसन कवानी के दो गोल से उरूग्वे ने क्रिस्टियानो रोनाल्डो का विश्व कप जीतने का सपना तोड़ते हुए यहां प्री क्वार्टर फाइनल में पुर्तगाल को 2-1 से हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। पेरिस सेंट जर्मेन के स्ट्राइकर कवानी ने 62वें मिनट में उरूग्वे की ओर से विजयी गोल दागा। इससे पहले कवानी ने सातवें मिनट में ही उरूग्वे को बढ़त दिला दी थी, लेकिन पुर्तगाल ने 55वें मिनट में पेपे के गोल की बदौलत बराबरी हासिल की।

इस जीत के साथ उरूग्वे ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई जहां उसका सामना शुक्रवार को फ्रांस से होगा। पेपे पहले खिलाड़ी हैं जो मौजूदा टूर्नामेंट में दक्षिण अमेरिकी टीम उरूग्वे के खिलाफ गोल करने में सफल रहे हैं। इसके अलावा हालांकि उरूग्वे का डिफेंस मजबूती से जमा रहा और टीम को अब रूस में प्रबल दावेदारों में जगह दी जाने लगी है।

इसे भी पढ़ें :

इन दो तस्वीरों से बयां होती है धौनी की सादगी व जुनून

आस्कर तबारेज की टीम के लिए हालांकि एकमात्र झटका यह रहा है कि अंतिम लम्हों में कवानी को लड़खड़ाते हुए मैदान से बाहर जाते देखा गया जिससे निजनी नोवगोरोद में फ्रांस के खिलाफ अगले हफ्ते होने वाले अंतिम आठ के मुकाबले में उनकी फिटनेस को लेकर सवाल उठने लगे हैं। इस बीच यूरोपीय चैंपियन पुर्तगाल की टीम का सफर यहीं समाप्त हो गया। विश्व क्रिकेट के दो दिग्गजों रोनाल्डो और लियोनल मेस्सी की टीमें एक ही दिन टूर्नामेंट से बाहर हो गईं। उरूग्वे की टीम का डिफेंस अंतरराष्ट्रीय फुटबाल में संभवत: इस समय सबसे मजबूत है और उसकी स्ट्राइकर जोड़ी भी सर्वश्रेष्ठ में शुमार है।

लुइ सुआरेज और कवानी ने शानदार मूव बनाते हुए सातवें मिनट में उरूग्वे को बढ़त दिलाई। कवानी ने बेहतरीन क्रास पर गेंद सुआरेज के पास पहुंचाई और फिर पेनल्टी एरिया की ओर दौड़ पड़े। बार्सीलोना के स्ट्राइकर सुआरेज ने गेंद को वापस कवानी की ओर भेजा जिन्होंने इसे गोल में पहुंचा दिया। सुआरेज दमदार फ्री किक पर उरूग्वे की बढ़त को दोगुना करने के करीब पहुंचे लेकिन रुई पैट्रीशियो ने अच्छा बचाव करते हुए खतरे को टाल दिया। पहले हाफ में रोनाल्डो और उनके साथी कुछ खास नहीं कर पाए।

इसे भी पढ़ें :

फीफा विश्व कप : जर्मनी के बाद अर्जेंटीना भी बाहर, एमबापे बने जीत के नायक

मध्यांतर तक उरूग्वे की टीम 1-0 से आगे थी। दूसरे हाफ के 10वें मिनट में हालांकि पुर्तगाल ने बराबरी हासिल कर ली। कार्नर पर गेंद राफेल गुरेइरो के पहुंची और उनके सटीक क्रास को पेपे ने हेडर से गोल के अंदर पहुंचा दिया। मौजूदा विश्व कप में लगभग साढ़े पांच घंटे के खेल के बाद यह उरूग्वे के खिलाफ पहला गोल था। उरूग्वे ने हालांकि इसके बाद जोरदार पलटवार किया। रोड्रिगो बेंटाकुर के पास पर कवानी ने शानदार गोल दागा।

पुर्तगाल के कोच फर्नांडो सांतोस इसके बाद काफी निराश दिखे क्योंकि उन्हें पता था कि उरूग्वे के मजबूत डिफेंस के खिलाफ दूसरी बार पिछड़ने के बाद वापसी करना आसान नहीं होगा। गोलकीपर फर्नांडो मुसलेरा ने हालांकि पुर्तगाल को बराबरी का मौका दिया जब वह गेंद को नहीं पकड़ पाए और यह बर्नार्डो सिल्वा के पास पहुंच गई। सिल्वा हालांकि गेंद को गोल में अंदर नहीं डाल पाए और बाहर मार बैठे। कवानी इसके बाद पिंडली की चोट के कारण बाहर हो गए।

कवानी अगर फ्रांस के खिलाफ मुकाबले के लिए फिट होते हैं तो क्वार्टर फाइनल में उनके और पेरिस सेंट जर्मेन के उनके स्ट्राइक जोड़ीदार काइलियान मबापे के बीच कड़ी प्रतिद्वंद्वित देखने को मिल सकती है। मबापे ने अर्जेन्टीना के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया।