ब्रेडा: हॉकी चैम्पियंस ट्रॉफी में शनिवार को भारत ने नीदरलैंड के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेला। ड्रा के साथ भारत ने फाइनल में जगह बना ली है।

मैच ड्रा होने के बावजूद भारत के कुल 8 अंक हुए हैं और वह अंक तालिका में दूसरे पायदान पर है। नियमों के मुताबिक पहले दो पायदान वाले देशों को फाइनल में जगह मिलनी थी। लिहाजा ये मौका ऑस्ट्रेलिया और भारत को मिला है।

एक जुलाई को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की भिड़ंत होगी। खिताबी मुकाबले में एक बार फिर भारत के हॉकी प्रशंसकों का खुमार सिर चढ़कर बोल रहा है।

खास बात ये कि भारत लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचा है। पिछली बार भी खिताबी मुकाबले में भारत की भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से ही हुई थी। तब भारत को 3-1 से हार का सामना करना पड़ा था।

इस बार भारत पिछली हार का बदला लेने के इरादे से उतरेगा। टूर्नामेंट का यह 36वां संस्करण है, भारत ने ये टूर्नामेंट कभी नहीं जीती है। इस बार भारत खिताबी मुकाबला जीत लेता है तो ये ऐतिहासिक होगा।