नई दिल्ली : मौजूदा विजेता भारत की पी.वी. सिंधु रविवार को योनेक्स-सनराइज डॉ. अखिलेश दास गुप्ता इंडिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला एकल फाइनल में हार गईं। सिंधु ने बीते साल यह खिताब अपने नाम किया था।

सिंधु को सिरी फोर्ट स्पोटर्स कॉम्पलेक्स स्टेडियम में खेले गए मैच में अमेरिका की बेईवान झांग ने तीन गेमों तक चले मुकाबले में मात देते हुए पहली बार यह खिताब अपने नाम किया। झांग ने एक घंटे नौ मिनट तक चले मुकाबले में सिंधु को 21-18, 11-21, 22-20 से मात देते हुए ट्रॉफी पर कब्जा जमाया।

सिंधु पहले गेम में 5-8 से पीछे चल रही थी। उन्होंने वापसी करते हुए स्कोर 8-8 से बराबर कर लिया और फिर ब्रेक में 11-9 की बढ़त के साथ गई। लेकिन ब्रेक से लौटते ही झांग ने स्कोर 12-12 किया और फिर 14-13 की बढ़त ले ली। सिंधु ने हालांकि 15-15 से बराबरी कर अपने आप को मैच में बनाए रखा।

यह भी पढ़ें :

इंडिया ओपन बैडमिंटन में प्रणीथ, कश्यप की क्वार्टर फाइनल में हार

पीएम मोदी ने किया खेलो इंडिया स्कूल गेम्स का शुभारंभ, कहा- देश में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं

यहां से झांग ने 16-15 की बढ़त ली और उसे कायम रखते हुए पहला गेम 21-18 से अपने नाम किया। रियो ओलम्पिक की रजत पदक विजेता सिंधु ने हालांकि दूसरे गेम में शानदार वापसी की। इस गेम में झांग सिंधु की बरबारी नहीं कर पाई। गेम की शुरुआत में स्कोर 2-2 से बराबर था। यहां से भारतीय खिलाड़ी ने बढ़त ली और स्कोर 4-2 कर लिया। इस बढ़त को कायम रखते हुए वह ब्रेक में 11-4 के स्कोर के साथ गईं।

ब्रेक के बाद झांग ने वापसी की कोशिश की, लेकिन सिंधु ने चौकस रहते हुए गेम 21-11 से अपने नाम कर मैच को तीसरे गेम में पहुंचा दिया। तीसरे और निर्णायक गेम में दोनों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखी गई। एक समय अमेरिकी खिलाड़ी 9-4 से आगे थीं, लेकिन वो अपनी इस बढ़त का फायदा नहीं उठा पाईं और ब्रेक में उनकी बढ़त सिर्फ दो अंकों की रह गई।

ब्रेक के बाद सिंधु ने वापसी की और 11-11 से स्कोर बराबर कर दिया। यहां से दोनों के बीच एक-एक अंकों की कड़ी प्रतिस्पर्धा देखी गई। एक समय स्कोर 20-20 से बराबर था। यहां झांग ने जरूरी दो अंक लेते हुए 22-20 से गेम अपने नाम कर मैच के साथ खिताब पर कब्जा जमाया।

यह भी पढ़ें :

इंडिया ओपन के पहले दौर में सायना व सिंधु जीतीं, प्रणॉय हारे

‘खेलो इंडिया स्कूल खेल’ का शुभारंभ आज, दांव पर होंगे 673 पदक

इंडिया ओपन के पहले दौर के लिए तैयार हैं सायना व सिंधु

वहीं, इंडोनेशिया के हिस्से दो खिताब आए। उसने महिला युगल और पुरुष युगल के खिताब अपने नाम किए। इंडोनेशिया के मार्कस फेरनाल्डी गिडेयोन और केविन संजय सुकामुल्जो की जोड़ी ने टूर्नामेंट के पुरुष युगल वर्ग की ट्रॉफी अपने नाम की।

इस जोड़ी ने फाइनल मैच में डेनमार्क की किम अस्टरुप और आंद्रेस स्कारुप रासमुसेन की जोड़ी को मात दी। इंडोनेशियाई जोड़ी ने डेनमार्क की जोड़ी को 38 मिनट तक चले मुकाबले में 21-14, 21-16 से हराया।

महिला युगल में इंडोनेशिया की ग्रेसिया पोली और अप्रीयानी राहायू ने खिताबी मुकाबले में थाईलैंड की जोंगोलकोन फान के. और राविंडा पी. की जोड़ी को 21-18, 21-15 से हराया। यह मुकाबला 58 मिनट चला।

इन दोनों जोड़ीदारों के बीच यह दूसरा मुकाबला था और दोनों ही बार पोली और राहायू की जीत हुई है। इससे पहले पोली और राहायू ने 2017 कोरिया ओपन में जीत हासिल की थी। वहीं चीन के शि युकी ने पुरुष एकल वर्ग का खिताबी मुकाबला जीता। शि युकी ने चीनी ताइपे के चाउ टिन चेन को 47 मिनट तक चले मुकाबले में 21-18, 21-4 से मात देते हुए खिताब अपने नाम किया।

डेनमार्क के हिस्से भी एक खिताब आया। डेनमार्क के माथियास क्रिस्टिएनसेन और क्रिस्टिना पेडेरसन की जोड़ी ने मिश्रित युगल के खिताब पक कब्डजा जमाया। डेनमार्क की इस जोड़ी ने इंडोनेशिया के प्रवीण जोर्डन और मेलाट डाएवा ओक्टाविएंटी की जोड़ी को 21-14, 21-15 से परास्त कर खिताब अपने नाम किया। यह मैच 37 मिनट तक चला।