मुंबई : भारत ए के गेंदबाज पूरी तरह से नाकाम रहे, जिससे स्टीव स्मिथ (107) और सीनियर बल्लेबाज शॉन मार्श (104) की सहज शतकीय पारियाों से आस्ट्रेलिया ने आज यहां तीन दिवसीय अभ्यास मैच से अपने टेस्ट दौरे की शानदार शुरुआत की।
दोनों बल्लेबाजों के शतक की बदौलत आस्ट्रेलिया ने ब्रैबोर्न स्टेडियम में भारत एक के पूरी तरह से प्रभावहीन आक्रमण के सामने पहले दिन का खेल समाप्त होने तक पांच विकेट खोकर 327 रन बनाये। हालांकि दोनों बाद में रिटायर्ड आउट हो गये। स्टंप तक मिशेल मार्श (16) और मैथ्यू वेड (07) क्रीज पर डटे थे।
स्मिथ और मार्श तब बल्लेबाजी के लिये उतरे जब आस्ट्रेलिया ने दोनों सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (25) और मैट रेनशॉ (11) के विकेट गंवा दिये थे जिससे स्कोर दो विकेट पर 55 रन था। घरेलू टीम के गेंदबाजी आक्रमण ने उन्हें जरा भी परेशान नहीं किया जिससे दोनों शतक बनाने के साथ तीसरे विकेट के लिये 156 रन की भागीदारी निभाने के बाद रिटायर्ड आउट हो गये।
मध्यम गति के गेंदबाज नवदीप सैनी ने वार्नर और रेनशॉ को लंच से पहले अपने छह ओवर के पहले स्पैल में आउट किया।

और पढ़े :
आईपीएल-2017 के कार्यक्रम घोषित, पहला मैच 5 अप्रैल को

लाओ के 15 फुटबाल खिलाड़ियों पर आजीवन प्रतिबंध

डरबन एकदिवसीय : मिलर, डू प्लेसिस के शतक से जीती द. अफ्रीका

आस्ट्रेलिया की शर्मनाक हार, काइल एॅबाट ने 6 विकेट


जिससे उन्होंने 27 रन देकर दो विकेट हासिल किये। कप्तान हार्दिक पंड्या ने दूसरी नई गेंद से दिन के अंत में पीटर हैंड्सकोंब का विकेट हासिल किया।
भारत के खिलाफ 23 फरवरी से शुरु हो रही चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में स्मिथ के घरेलू गेंदबाजों के लिये बडा खतरा बनने की उम्मीद है, उन्होंने तेज गेंदबाजों और स्पिनरों के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी की।
दायें हाथ के बल्लेबाज ने 107 रन की पारी खेली जो उनके 100वें प्रथम श्रेणी मैच में उनका 30वां सैकडा है। इसके लिये उन्होंने 161 गेंद का सामना किया। उन्होंने चाय के बाद अपनी पारी जारी नहीं रखने का फैसला किया, तब आस्ट्रेलियाका स्कोर दो विकेट पर 211 रन था।

पचास टेस्ट में 17 शतक जड़ने वाले स्मिथ ने अपने शतक में 12 चौके और एक छक्का जडा था। स्मिथ ने जोखिम लिये बिना शानदार पारी खेली। उन्होंने स्पिनर शाहबाज नदीम का अच्छी तरह सामना किया। बायें हाथ के शॉन मार्श को उस्मान ख्वाजा पर तरजीह दी गयी है, जिन्होंने 173 गेंद में 104 रन की पारी खेली। उन्होंने 10 चौके और एक छक्का जड़ा, हालांकि कामचलाउ स्पिनर अखिल हेरवादकर की गेंद को पुल करने से वह 88 रन के निजी स्कोर पर आउट हो सकते थे लेकिन सैनी ने शार्ट मिडविकेट पर उनका कैच छोड दिया।
वह भी चाय के बाद अपना शतक पूरा करने के बाद रिटायर्ड हो गये। तब 75 ओवर में टीम ने दो विकेट पर 288 रन बना लिये थे। तब पीटर हैंड्सकोंब (45) और उनके भाई मिशेल मार्श (16) क्रीज पर थे।
घरेलू टीम के गेंदबाजी आक्रमण को तब करारा झटका लगा जब आफ स्पिनर कृष्णप्पा गोथम क्षेत्ररक्षण करते हुए हैमस्ट्रिंग चोटिल करा बैठे और मैदान से चले गये।
सैनी ने लंच से पहले 13 रन देकर दो विकेट झटके थे, वह भी लंच के बाद पहले ओवर में चार गेंद खेलने के बाद लंगडाते हुए बाहर चले गये। हालांकि दिन के अंत में उन्होंने दो ओवर और फेंके।
लंच से पहले आस्ट्रेलिया ने दोनों सलामी बल्लेबाज वार्नर और रेनशॉ के विकेट गंवाकर दो विकेट पर 81 रन बनाये थे।

टीम ने दूसरे सत्र में 33 ओवर में बिना विकेट गंवाये 130 रन जोडे।
पारी के नौंवे ओवर में उप कप्तान वार्नर के पवेलियन लौटने के बाद स्मिथ क्रीज पर उतरे और उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की। उन्हें गेंदबाजी से कोई परेशानी नहीं हुई, सिर्फ एक बार स्पिनर नदीम की शार्ट पिच गेंद पर बल्ला भिडाकर स्लिप के क्षेत्ररक्षक को कैच देने से बचे। उस समय वह 55 रन पर थे।
इसके अलावा धीमे गेंदबाजों का सामना करने में स्मिथ को जरा भी परेशानी नहीं हुई, उन्होंने अपने पांवों का बखूबी इस्तेमाल किया। शॉन मार्श ने भी अपने कप्तान से प्रेरणा लेते हुए आत्मविश्वास से खेलना शुरु किया और 86 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 41.1 ओवर में शतकीय साझेदारी पूरी की और दोनों प्रभावहीन गेंदबाजी आक्रमण का आसानी से सामना किया।
इससे पहले आस्ट्रेलिया ने अपने दोनों बायें हाथ के सलामी बल्लेबाज उप कप्तान वार्नर और इंग्लैंड में जन्में लंबी कद काठी के रेनशॉ दोनों का विकेट लंच से पहले ही गंवा दिया।
सुबह भारत ए के कप्तान पंड्या ने टास जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया घरेलू टीम के लिये सैनी सबसे प्रभावशाली गेंदबाज रहे जबकि दो मध्यम गति के गेंदबाज कप्तान पंड्या और अशोक डिंडा को हरियाली पिच से कोई मदद नहीं मिली। सैनी ने चार ओवर के स्पैल के अपने पहले ओवर में वार्नर को शार्ट गेंद पर विकेट के पीछे ईशान किशन के हाथों कैच कराया जिन्होंने इसे पुल करने की कोशिश की।

वार्नर ने 43 गेंद में चार बाउंड्री से 25 रन बनाये।पहले ड्रिंक ब्रेक के बाद पांचवें ओवर में सैनी ने रेनशॉ को बल्ला भिडाने को मजबूर किया और किशन ने आसानी से सुबह अपना दूसरा कैच लपका। स्मिथ और शॉन मार्श के रिटायर्ड होने के बाद पंड्या ने अंतिम सत्र में हैंड्सकोंब को आउट किया।