हैदराबाद : गोशामहल राजा सिंह और उप्पल विधायक एनवीएसएस प्रभाकर ने कहा कि भगवान राम पर विवादास्पद बयाने देने वाले फिल्म आलोचक कत्ती महेश के खिलाफ लगाया गया छह माह का बहिष्कार काफी नहीं होता है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि कत्ती के खिलाफ आजीवन प्रतिबंध लगाया जाये। राजा सिंह और प्रभाकर ने सोमवार को नजरबंध किये गये परिपूर्णानंद स्वामी से मिलने गये। मगर पुलिस ने स्वामी से मिलने नहीं दिया गया।

इस अवसर पर विधायकों ने मीडिया सेरूबरू हुए। उन्होंने सरकार से मांग की है कि कत्ती महेश को हैदराबाद से हमेशा के लिए बहिष्कार किया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि वो नजरबंद किये गये परिपूर्णानंद स्वामी से मिलने आये है। मगर हमें पुलिस ने स्वामी से मिलने नहीं दिया है। इस बारे में वो डीजीपी से शिकायत करेंगे। विधायकों के साथ आई अभिनेत्री कराटे कल्याणी को भी आगे जाने नहीं दिया गया।

संबंधित खबर :

भगवान राम पर विवादित बयान देने वाले फिल्म आलोचक कत्ती महेश का बहिष्कार

अकबरुद्दीन पर खामोश क्यों

विधायकों ने परिपूर्णानंद स्वामी को नजरबंद किये जाने की घटना की निंदा की है। साथ ही उन्होंने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि कत्ती महेश को न जाने क्यों गिरफ्तार नहीं किया गया है।

विधायकों ने यह भी सवाल किया एमआईएम विधायक अकबरुद्दीन औवेसी भड़काऊ भाषण देते है तो उनके खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जाती है। मगर स्वामी द्वारा शांति मार्ग से धर्माग्रह यात्रा करे तो नजरबंद किया जाता है। यह कैसा और कहां का न्याय है?