नेल्लूर: दिवंगत मुख्यमंत्री डॉ YS राजशेखर रेड्डी का नेल्लूर जिले से अटूट बंधन है। मुख्यमंत्री रहते समय उन्होंने वर्ष 2004 से 2009 के दौरान जिले का सर्वांगीण विकास की गति तेज कर दी थी। प्रदेश की महत्वपूर्ण घटनाओं में अधिकतम घटनाएं नेल्लूर जिले में घटी। करोड़ों लोगों की जान बचानेवाली आरोग्यश्री योजना का आरंभ नेल्लूर जिले से किया गया। देश में अग्रगामी बंदरगाह कृष्णापटनम बंदरगाह की नींव YS राजशेखर रेड्डी ने रखी। जिले में मौजूद भूमि का उपयोग कर सेज द्वारा स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से कई उद्योग निर्माण की नीवं भी YS राजशेखर रेड्डी ने रखी।

नेल्लूर जिले के कई राजनीतिक नेता YS राजशेखर रेड्डी को गुरु मान कर उनके आदर्श मार्ग पर आगे बढ़ते रहे। राजनीतिक गलियारे में उभरते राजनेताओं को अवसर देते हुए जिले में राजनीति की स्थिति को मजबूत बनाया। जिले में केंद्रीय मंत्रियों से लेकर जिला परिषद चेयरमैन तक कई जनप्रतिनिधियों को दिवंगत YS राजशेखर रेड्डी ने राजनीति में आगे लाया।

इसे भी पढ़ें :

YSR की जयंती पर आज टिमटिमाएंगे एक लाख कैंडल

दिवंगत YSR के कार्यकाल में नेल्लूर को ग्रेड-1 मुन्सिपालिटी का दर्जा दिया गया। नवीनतम भवन निर्माण के लिए निधियां मंजूर की। वर्ष 1884 से नगरपालिका रह चुके नेल्लूर को 100 वर्ष का इतिहास है। इस क्रम में वर्ष 2004 में जनप्रतिनिधियों के सहयोग से कार्पोरेशन बनाया गया। बता दें कि YSR के मरोणपरान्त नेल्लूर जिलावासियों ने नेल्लूर मुन्सिपल कार्पोरेशन भवन का निर्माण कर दिवंगत YSR का नाम दिया ।