हैदराबाद : हिंदुपुर के विधायक एवं सिने अभिनेता बालकृष्णा ने कहा है कि तेलुगु राज्यों के दोनों मुख्यमंत्री केसीआर और चंद्रबाबू नायडू दिवंगत नेता एनटीआर के ही शिष्य हैं। बसवतारकम इंडो अमेरिकन कैन्सर अस्पताल के 18वें वार्षिकोत्सव समारोह में उन्होंने आगे कहा कि कैन्सर को लेकर किसी को डरने की आवश्यकता नहीं है। उनके लिए उनके पिताजी ही आदर्श हैं। उनकी मां का देहांत कैन्सर हुआ। उनकी इच्छापूर्ती से पिताजी ने बसवतारकम अस्पताल बनाया गया है। 40 खाटों की व्यवस्थावाले इस अस्पताल में संख्या बढ़कर 500 हुई है।

बालककृष्णा ने कहा कि कैन्सर की बजाय उसके नाम से ही डर जाते हैं। कैन्सर की इलाज संभव हो रहा है। इसलिए इस बीमारी को लेकर डरने की कोई बात नहीं है। कैन्सर की रोकथाम को लेकर लोगों को जागरूक करना जरूरी है। उन्होंने आगे कहा कि कैन्सर पर रोकथाम के लिए सरकार कार्यप्रणाली बना रही है। राज्य के सभी कैन्सर अस्पतालों कर में छुट दी जा रही है। बालकृष्णा ने कहा कि एनटीआर ने लोगों के कल्याण के लिए यह अस्पताल बनाया, जो आज इस अस्पताल की विश्वस्तर पर पहचान बनी हुई है।

इसे भी पढ़ें :

अभिनेता बालकृष्णा के दायें हाथ का ऑपरेशन सफल, शूटिंग के दौरान हुए थे घायल

अवसर पर निजामाबाद की सांसद कविता और हिंदुपुर के विधायक बालकृष्णा (बालय्या बाबू), डायरेक्टर बोईपाटी श्रीनू उपस्थित थे। उन्होंने NTR और बसवतारकम की प्रतिमाओं पर पुष्पमालाएं अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। समारोह के दौरान बसवतारकम अस्पताल में चिकित्सा सेवा प्राप्त कर कैन्स र से मुक्त हुए लोगों को बालकृष्णा और कविता ने सम्मानित किया।