हैदराबाद : पूर्व मंत्री एवं शहर कांग्रेस पार्टी के नेता दानम नागेंदर ने पार्टी से नाता तोड़ लिया। उन्होंने पार्टी सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने ऑल इंडिया कांग्रेस पार्टी (AICC) के अध्यक्ष राहुल गांधी, तेलंगाना के पार्टी पर्यवेक्षक अशोक गेहलोत, पीसीसी मुखिया उत्तम कुमार रेड्डी को एक पत्र लिखा। दानम ने बताया है कि पार्टी में आर्थिक पिछड़ों के साथ न्याय नहीं किया जा रहा है। इसी कारण से उन्होंने पार्टी को गुड़बाय कहा है।

बता दें कि हाल ही में संस्थागत पदों की भर्ती में शहर कांग्रेस के अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद से नाराज चल रहे हैं। इसी नाराजगी की वजह से उन्होंने पार्टी सदस्यता से इस्तीफा दिया है। तेलंगाना पीसीसी के अध्यक्ष ने दानम से मुलाकात कर उन्हें समझाने का प्रयास किया। यह चर्चा पार्टी के खेमें में हुई।

इसे भी पढ़ें :

कांग्रेस नेता दानम के घर के सामने सुसाइड की कोशिश करने वाली महिला की मौत, परिजनों ने शुरू किया आंदोलन

दानम द्वारा कांग्रेस पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दिए जाने के बाद राजनीतिक गलियारे में चर्चा का माहौल गरम रहा। उनके कार्यालय से पता चला है कि दानम अपने राजनीतिक भविष्य की कार्यप्रणाली की घोषणा अगले दिन करेंगे। कुछ दिनों तक खामोश रहे और तत्पश्चात उन्होंने शहर कांग्रेस के अध्यक्ष का पदभार पूर्व सांसद अंजन कुमार यादव को सौंपा। इसके बाद दानम हताश हुए। आधिकारिक रूप से इस बात की घोषणा नहीं हुई कि दानम किस पार्टी में शामिल होंगे और क्या सिकंदराबाद से क्या सासंद का टिकट उन्हें मिलेगा।

नागेंद्र की घोषणा के थोड़ी ही देर बाद राज्य कांग्रेस अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी उन्हें इस्तीफा वापस लेने के लिए मनाने उनके आवास पहुंचे। पूर्व मंत्री हालांकि अपने फैसले पर डटे रहे।

कुछ समय से पार्टी गतिविधियों से दूर नागेंद्र ने कहा कि वह शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन कर अपने इस्तीफे के कारण बताएंगे।