पटना: राजद के साथ ही लालू प्रसाद एवं उनके परिवार से नजदीकी बढ़ने का स्पष्ट संकेत देने वाले असंतुष्ट भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा को तेजस्वी यादव की ओर पार्टी में शामिल होने के लिए एक तरह से खुला आमंत्रण मिला है।

यह भी पढ़ें:

भाई तेजप्रताप की नाराजगी पर तेजस्वी ने दिया ये बयान

सिन्हा भाजपा की सहयोगी जदयू की ओर से कल यहां आयोजित इफ्तार में शामिल होने की बजाय राजद नेता तेजस्वी यादव द्वारा आयोजित इफ्तार में शामिल हुए थे। यद्यपि सिन्हा ने इस बात पर जोर दिया कि पारिवारिक मित्रों के बीच उनकी उपस्थिति से कोई राजनीतिक अर्थ नहीं निकाला जाए लेकिन इस कार्यक्रम ने उनके भविष्य के राजनीतिक कदम का संकेत दिया।

मीडिया की खबरों में भी इसका संकेत दिया गया था कि सिन्हा पटना साहिब सीट से अगला लोकसभा चुनाव किसी अन्य पार्टी से लड़ सकते हैं। सिन्हा के भाजपा के साथ संबंध काफी तनावपूर्ण हो गए हैं। कल रात यहां आयोजित इफ्तार पार्टी में जब तेजस्वी से सिन्हा के राजद में शामिल होने के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि कौन सी ऐसी पार्टी होगी जो शत्रुघ्न सिन्हा को अपनी ओर नहीं चाहेगी।

वह बिहार के गौरव हैं। तेजस्वी की यह टिप्पणी महत्व रखती है जो कि अपने पिता लालू की गैरमौजूदगी में राजद का कामकाज देख रहे हैं। सिन्हा ने स्पष्ट किया है कि वह 2019 का लोकसभा चुनाव पटना साहिब सीट से ही फिर से लड़ेंगे।