अनंतपुर: टीडीपी के सांसद जे.सी दिवाकर रेड्डी के दामाद और विधान परिषद सदस्य दीपक रेड्डी ने आरोप लगाया कि टीडीपी भ्रष्टाचार का दूसरा नाम है। उन्होंने इस बात का भी आरोप लगाया कि सरकारी कर्मचारी 5 से 50 प्रतिशत रिश्वत ले रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:

चंद्रबाबू नायडू के शासन में हर तरफ भ्रष्टाचार की बू : वाईएस जगन

चुनावी बांड्स से राजनीतिक फंडिंग में भ्रष्टाचार रुकेगा : अमित शाह

भ्रष्टाचार मामले में शरीफ परिवार के खिलाफ सुनवाई स्थगित

भू-कब्जा के आरोपों में घिरे दीपक रेड्डी को टीडीपी से निलंबित कर दिया गया था। इस संदर्भ में उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर नियंत्रण पाने की आवश्यकता है। साथ ही नि:शुल्क रियायत को भी समाप्त करने की आवश्यकता है।

संवाददाताओं से बातचीत करते हुए दीपक रेड्डी ने कहा कि कई सरकारी अधिकारी समस्याओं को सुलझाने के मामले में लापरवाही बरत रहे हैं। जन्मभूमि समिति पर भी भ्रष्टाचार के कई आरोप है।

आज भी आंध्र प्रदेश में कई ऐसे गांव है जहां पेय जल समस्या है। जिलाधीशों को पूरी जिम्मेदारी नहीं सौंपनी चाहिए। उन्होंने बताया कि आम लोगों की समस्याओं को सुलझाने के लिए जल्द एक मंच बनाएंगे।