नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने राज्यसभा चुनावों के लिए दो कारोबारियों को उम्मीदवार बनाकर जनता के साथ विश्वासघात किया है।

आम आदमी पार्टी ने 16 जनवरी को होने वाले राज्यसभा चुनावों के लिए संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता के नाम की घोषणा की है। संजय सिंह पार्टी की स्थापना और उसे जन्म देने वाले आंदोलन के समय से इससे जुड़े हैं, वहीं सुशील गुप्ता दिल्ली के उद्योगपति हैं और एनडी गुप्ता पेशे से चार्टर्ड एकाउंटेंट हैं।

मनोज तिवारी ने संसद परिसर में कहा कि आप के राज्यसभा उम्मीदवारों की घोषणा इसके भ्रष्टाचार विरोधी रुख को झुठलाती है, जिसके आधार पर यह दिल्ली की सत्ता में आई थी। उन्होंने कहा, अरविंद केजरीवाल भ्रष्टाचार से लड़ने की बात करते हुए सत्ता में आये। अब वह दो कारोबारियों को राज्यसभा में भेज रहे हैं।

यह भी पढ़ें :

पत्ता कटने के बाद छलका विश्वास का दर्द, कहा- ईमानदारी की मिली सजा

AAP कार्यालय पर लगे कुमार विश्वास के खिलाफ पोस्टर, पूछा, भाजपा का यार या गद्दार

राज्यसभा की जगह कुमार विश्वास को अजमेर से लोकसभा का उपचुनाव लड़ाने की पहल

उन्होंने न केवल दिल्ली के साथ विश्वासघात किया है बल्कि पूरे देश के साथ भी किया है। सुशील गुप्ता पहले कांग्रेस में रहे हैं और उन्होंने पिछले साल नवंबर में ही कांग्रेस से इस्तीफा दिया था। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि गुप्ता जब उन्हें इस्तीफा सौंपने आये थे तभी बता दिया था कि आम आदमी पार्टी ने उन्हें राज्यसभा में भेजने का वादा किया है।

माकन ने ट्वीट किया, 28 नवंबर को सुशील गुप्ता अपना इस्तीफा सौंपने आये। मैंने उनसे पूछा कि क्यों? उनका जवाब था मुझे राज्यसभा सीट का वादा किया गया है। माकन ने कहा कि गुप्ता अच्छे आदमी हैं और खूब परोपकार कार्य करते हैं।