देहरादून : उत्तराखंड में विपक्षी कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि वह एनएच-74 घोटाले की सीबीआई जांच के अपने वादे से ''पलटने'' के लिए उत्तराखंड विधानसभा में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएगी।

राज्य विधानसभा में विपक्ष की नेता इंदिरा हृदेश ने मुख्यमंत्री को विधानसभा में दिए गए उनके बयान की याद दिलायी, जिसमें उन्होंने सदन को घोटाले की सीबीआई जांच कराने का आश्वासन दिया था। उन्होंने साथ ही आरोप लगाया कि रावत ने मुद्दे पर विधानसभा को ''गुमराह'' किया।

यह भी पढ़ें :

उत्तराखंड : ईई ने भाजपा विधायक पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री पोखरियाल ने अटल बिहारी वाजपेयी पर लिखी किताब

ड्रैगन की हिमाकत, उत्तराखंड के बाराहोती में सैंकड़ों की संख्या में घुसे चीनी सैनिक

उन्होंने हल्द्वानी में शुक्रवार को संवाददाताओं से कहा, ''मुख्यमंत्री द्वारा इस घोटाले की सीबीआई जांच की सिफारिश करने के बाद से तीन महीने से ज्यादा समय गुजर चुका है लेकिन केंद्र मुद्दे पर अब भी अपने हाथ पीछे खींच रहा है और मुख्यमंत्री राज्य विधानसभा के पिछले सत्र में घोटाले की सीबीआई जांच निश्चित होने की घोषणा करने के बावजूद असहाय होकर यह सब देख रहे हैं।''

कांग्रेस नेता ने मुख्यमंत्री पर विधानसभा को गुमराह करने तथा राज्य के लोगों से किया गया वादा तोड़ने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी पार्टी वादा ना निभाने के लिए राज्य विधानसभा के अगले सत्र में रावत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाएगी। उन्होंने राज्य सरकार के सीबीआई जांच को लेकर अपना वादा पूरा ना करने पर जेल भरो आंदोलन शुरू करने की भी चेतावनी दी है।