विशाखपट्टणम (आंध्र प्रदेश) : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष गुडिवाड़ा गुरुनाथ रेड्डी ने मुख्यमंत्री नारा चंद्रबाबू नायुडू पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि भारत के इतिहास में यदि भ्रष्टाचार पर पुस्तक लिखनी पड़ी तो उसके 80 प्रतिशत पन्ने आंध्र प्रदेश के CM चंद्रबाबू नायुडू के भ्रष्टाचार से जुड़ी खबरों से भर जाएंगे।

उन्होंने कहा कि चंद्रबाबू नायुडू के पिछले नौ साल और मौजूदा तीन साल के शासनकाल में हुए सभी घोटालों में चंद्रबाबू नायुडू शामिल रहे हैं।

गुरुनाथ रेड्डी ने शनिवार को यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि विशाखपट्टणम में हुए भूमि कब्जा मामले में मुख्यमंत्री और अन्य मंत्री शामिल होने का संदेह है।

यही नहीं, खुद प्रदेश के मंत्री अयन्ना पात्रुडू भी विशाखपट्टणम भूमि घोटाले को लेकर गंभीर आरोप लगा चुके हैं। उन्होंने बताया कि विशाखपट्टणम में भूमि कब्जे को लेकर वाईएसआर कांग्रेस पार्टी महाधरना कर मुख्यमंत्री चंद्रबाबू की सरकार को झुकने के लिये जरूर मजबूर करेगी।

ये भी पढ़े :

AAP कार्यालय पर लगे कुमार विश्वास के खिलाफ पोस्टर, पूछा, भाजपा का यार या गद्दार

जम्मू कश्मीर में 6 पुलिसकर्मी शहीद, आतंकियों ने घात लगाकर किया अटैक

शिमला नगर निगम चुनाव : मतगणना शुरू, पिछले 26 वर्षों से है कांग्रेस का राज


TDP सरकार पर सिट के नाम पर मामले को रफा-दफा करने की कोशिश का आरोप लगाते हुए गुरुनाथ रेड्डी ने कहा कि विशाखपट्टणम में हुए भूमि कब्जे के मामले में केंद्र सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि भूमि कब्जे के विरोध में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी 22 जून से कलेक्टरेट के पास महाधरना करेगी और स्वयं वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सुप्रीमो जगनमोहन रेड्डी ने इस महाधरने का आह्वान किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि आंध्र प्रदेश के मानव संसाधन विकासमंत्री गंटा श्रीनिवास राव जनता का धन लूट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दासपल्लाहिल्स की जमीन के लिये लड़ रहे वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेताओं पर 50 लाख रुपये का मानहानि का दावा ठोका है। भूमि कब्जे में सरकार की भूमिका होने का आरोप लगाने वाले गुरुनाथ रेड्डी ने कहा कि इस कब्जे के कारण नुकसान हुए लोगों के साथ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी खड़ी रहेगी।