चर्चित निर्भया गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चार दोषियों में से तीन की पुनर्विचार याचिका खारिज कर दी। इनकी फांसी की सजा को बरकरार रखा गया है। फैसले के साथ ही निर्भया की मां आशा देवी के चेहरे पर गहरा सुकून देखने को मिला। न्याय व्यवस्था के प्रति न सिर्फ उनकी...बल्कि देश की हर मां का भरोसा और मजबूत हुआ। कांड के दोषियों विनय, पवन और मुकेश की फांसी तय मानी जा रही है। कोर्ट ने इनकी इस दलील को पूरी तरह खारिज कर दिया कि ये गरीब हैं और आदतन अपराधी नहीं हैं। साथ ही कोर्ट ने हिदायत दी की इस तरह की जघन्य घटना को अंजाम देने वालों के लिए समाज में कोई जगह नहीं है।