नई दिल्ली : आंध्र प्रदेश के कडपा और तेलंगाना के बोय्यारम में इस्पात संयंत्र स्थापित करना असंभव है। केंद्र सरकार ने उक्ताशय का हलफनामा आज सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया है। केंद्र सरकार ने दाखिल हलफनामा में बताया है कि प्रदेश के विभाजन कानून में केवल इस्पात संयंत्र स्थापित करने पर विचार करने का उल्लेख मात्र है।

आपको बता दें कि बय्यारम में इस्पात संयंत्र स्थापित करने की मांग करते हुए एमएलसी पोंगुलेटी सुधाकर रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी। इसी क्रम में केंद्र ने हलफनामा दाखिल किया है।

यह भी पढ़ें :

अब वाईएस जगनमोहन रेड्डी नाम की ‘आंधी’ को रोक नहीं पाएंगे टीडीपी सुप्रीमो चंद्रबाबू

टीटीडी को मुझे नोटिस भेजने का अधिकार नहीं है : विजयसाई रेड्डी

चंद्रबाबू की हार के लिए पैदल रास्ते जाकर भगवान बालाजी से प्रार्थना करूंगा : मोत्कुपल्ली

केंद्र ने हलफनामा में बताया है कि वर्ष 2014 में स्पष्ट रूप से कह दिया गया था कि ये इस्पात संयंत्र स्थापित करना असंभ है। फिर भी राज्य सरकारों को इस संयंत्र पर विचार करने के फैसला लेने को कहा गया था। साथ ही इन संयंत्र पर राज्य सरकार से सलाह और सुझाव भी मांगा गया था। इसी क्रम में राज्य सरकारों की ओर से मिली जानकारी का अध्ययन करने के बाद ही यह फैसला लिया है।