हैदराबाद : तेलंगाना भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष डॉ. के. लक्ष्मण ने कहा कि कर्नाटक में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद भी विपक्ष दलों की अपवित्र गठबंधन के कारण सरकार गठन नहीं कर पाये हैं। खम्मम और जगित्याल जिलों से आये विभिन्न पार्टी के नेता और कार्यकर्ता मंगलवार को लक्ष्मण के समक्ष्य भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए।

इस अवसर पर बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि जाति और धर्म के नाम पर लोगों को विभाजित करके वोट मांगने वाली कांग्रेस को लोग सबक सिखा रहे हैं। फिर भी बीजेपी को वोट न गिरे ऐसी चाल कांग्रेस चल रही है।

लक्ष्मण ने कहा कि कर्नाटक में चुनाव से पहले जेडीएस और कांग्रेस ने एक दूसरे पर गाली गलोज कर लिये। मगर चुनाव के बात समझौता कर लिये। उन्होंने याद दिलाया कि चंद्रबाबू नायुडू और के. चंद्रशेखर राव के सुझाव पर ही कुमार स्वामी ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बनने के लिए तैयार हुए है। उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस को वोट दे तो भी टीआरएस की खाते में जाएगी या टीआरएस को वोट दे तो भी कांग्रेस के खाते में जमा हो जाएगा।

यह भी पढ़ें :

इतने सालों तक मुख्यमंत्री रह चुके चंद्रबाबू ने सपनों के पोलवरम को पूरा क्यों नहीं किया? : YS जगन

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि टीआरएस एक परिवार की पार्टी है। इस परिवार की पार्टी टीआरएस को एक बीजेपी मात्र हरा सकती है। उन्होंने आह्वान किया कि टीआरएस जैसे मौकापरस्ती पार्टी को हराने के लिए पार्टी के कार्यकर्ता कड़ी मेहनत करें। उन्होंने बताया कि तेलंगाना में बीजेपी धीरे-धीरे अपना पांव पसारने में सफल हो रही है। उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में बीजेपी तेलंगाना में अपना ध्वज जरूर फहरायेगी।

लक्ष्मण ने बताया कि आगामी 22 जून को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तेलंगाना की वर्तमान राजनीति पर समीक्षा करेंगे। उन्होंने यह कहा कि बी आर अंबेडकर अपमानित करने वाली कांग्रेस को दलित विश्वास नहीं कर रहे हैं।