लखनऊ : उत्तर प्रदेश में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर सोमवार तड़के तेज रफ्तार रोडवेज बस ने 12 लोगों को कुचल दिया, जिसमें सात लोगों की मौत हो गई और छह गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतकों में छह छात्र और एक शिक्षक शामिल हैं। मरने वाले सभी छात्र बीटीसी की पढ़ाई कर रहे थे। ये सभी संत कबीर नगर के खलीलाबाद से हरिद्वार जा रहे थे।

पुलिस के मुताबिक, छात्रों का एक समूह संत कबीर नगर के खलीलाबाद के प्रभा देवी महाविद्यालय से एजुकेशन टूर पर हरिद्वार जा रहा था। अलग-अलग 10-12 बसों में 550 छात्र सवार थे।

सुबह करीब चार बजे एक्सप्रेस-वे पर तिर्वा के पास एक बस को तकनीकी खराबी आने के बाद सड़क किनारे खड़ा कर दिया गया था। इन्हीं बसों में सवार छात्र और शिक्षक नीचे उतर कर टहल रहे थे कि तभी तेज रफ्तार रोडवेज बस ने वहां टहल रहे छात्रों, शिक्षक और बस स्टाफ को कुचल दिया जिसमें से पांच छात्र और एक शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ें :

यूपी : ट्रक और स्कॉर्पियो की जोरदार टक्कर, 6 की मौत, 4 घायल

घटना के बाद आनन-फानन में घायलों को तिर्वा के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। रास्ते में एक और छात्र की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया है।

इस बीच मुख्यमंत्री ने इस हादसे में मारे गए लोगों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की है और मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजा देने की घोषणा है। घायलों के समुचित इलाज के लिए प्रशासन को निर्देश जारी किए हैं।