नई दिल्ली : नई दिल्ली : राजधानी पुलिस ने शनिवार को बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए एक एनकाउंटर में मोस्ट वाटेंड अपराधी राजेश भारती को उसके चार साथियों समेत मार गिराया है। राजेश पर एक लाख रुपये का इनाम था। मारे गए बदमाशों में राजेश का खास साथ संजीत बिंद्रो भी शामिल है। इस मुठभेड़ में छह पुलिसकर्मी घायल भी हो गए हैं। पुलिस सूत्रों का कहना है कि मारा गया बदमाश अपराध की दुनिया में आने से पहले बच्चों को ट्यूशन पढ़ाता था।

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ में मारा गया कुख्यात बदमाश राजेश भारती पहले सीधा-साधा युवक था। वह पांचवीं पास था, लेकिन बच्चों को ट्यूशन पढ़ाता। बदमाशों के संपर्क में आकर बाद में उसने अपराध की दुनिया में कदम रखा। पहली बार दिल्ली पुलिस ने उसे वसंत कुज दक्षिणी इलाके से गिरफ्तार किया था। वह साथियों के साथ किसी वारदात को अंजाम देने रंगरपुरी इलाके में आया था। साल 2011 से 2014 तक उसने दिल्ली के छावला, वसंत कुंच, साउथ कैंपस और वसंत कुज दक्षिणी थाना क्षेत्र में कई वारदातों को अंजाम दिया था।

इसे भी पढ़ें

अखिलेश की जांच टीम ने BBK एनकाउंटर को बताया फेक, LU पूर्व छात्र के लिए सड़क पर उतरे स्टूडेंट्स

पिता की हत्या का आरोप

एनकाउंटर में मारे गए राजेश भारती पर अपनी मां के साथ मिलकर पिता बलवान की हत्या का आरोप लगा था, इस मामले में वह जेल भी गया था। बाद में वह कंडेला गांव से गुरुग्राम शिफ्ट होगया। ग्रामीणों के अनुसार, राजेश के पिता की बलवान की हत्या हो गई थी। उसके चाचा ईश्वर सिंह ने राजेश और उसकी मां पर बलवान की हत्या का आरोप लगाया था। बाद में ईश्वर ने राजेश की मां की हत्या कर दी थी। इस मामले में वह जेल चला गया था, लेकिन बाद में राजेश और ईश्वर में समझौता हो गया। ईश्वर सिंह की भी मौत हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें

योगी की पुलिस का ‘एनकाउंटर सच’ : लखनऊ से युवक को उठाया, बाराबंकी में गोली मारकर मुठभेड़ दिखाया

यहां हुआ एनकाउंटर

जानकारी के अनुसार शनिवार को फतेहपुर बेरी के पास पुलिस की स्पेशल सेल और दिल्ली के मोस्ट वाटेंड अपराधी राजेश भारती गैंग के बीच मुठभेड़ हो गई। जिसमें पुलिस ने चार बदमाशों को मौके पर ही ढेर कर दिया, जबकि एक बदमाश की अस्पताल में मौत हो गई।

इस एनकाउंटर को दिल्ली पुलिस के इतिहास का अब तक सबसे बड़ा एनकाउंटर बताया जा रहा है, जब एक साथ पांच बदमाशों को पुलिस ने मार गिराया है।

25 से ज्यादा दर्ज थे मुकदमे

बताया जा रहा है कि राजेश भारती हरियाणा के जींद का रहने वाला था और उसके खिलाफ 302 और 307 जैसी गंभीर धाराओं में दिल्ली समेत दूसरे राज्यों में कई मुकदमे दर्ज हैं। भारती खासतौर पर साउथ दिल्ली में हुई कई आपराधिक वारदातों में शामिल रहा था। भारती पर लूट के 25 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं, जबकि संजीत पर लूट के 10 मुकदमे थे। दोनों बदमाश पिछले साल हरियाण पुलिस की कस्टडी से भाग गए थे। जिसके बाद हरियाणा पुलिस ने राजेश पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

गैंग में शामिल थे 14 बदमाश

राजेश भारती के गिरोह में रोहतक के 11 और दिल्ली के तीन बदमाश शामिल हैं। इनमें से राजेश भारती और संजीत बिदरो की मौत के बाद भी गैंग के तीन बदमाश अभी भी जेल से बाहर हैं। बाहर रह रहे गैंग के एक बदमाश ने हाल ही में रोहतक में हत्या की वारदात को अंजाम दिया है।