पटना : बिहार के औरंगाबाद जिले का एक वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक प्रेमी जोड़ को कुछ लोग पीट रहे हैं। बताया जा रहा है दाउदनगर इलाके में स्थित दाउद खां का किला घूमने गए एक प्रेमी जोड़े को कुछ मनचले युवकों पीट दिया, जिसका मनचलों ने वीडियो भी बना लिया और वायरल कर दिया है।

इस मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों में युवक-युवती के साथ मारपीट करने वाला युवक शमशाद उर्फ गुड्डू, मारपीट की घटना का वीडीयो बनाने वाला युवक पिंटू उर्फ असगर और वहां पर मौजूद अधेड़ रघुनाथ नारायण राय शामिल है।

इसे भी पढ़ें

Viral video :  तो यूं बचाया गया शेर के बाड़े में कूदने वाला व्यक्ति

शमशाद उर्फ गुड्डु पेशे से वीडीयोग्राफर है। थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने दाउदनगर थाना परिसर में

आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि वीडीयो वायरल होने के बाद एसडीपीओ संजय कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने गहन छानबीन करते हुए इस मामले का उद्भेदन कर लिया है और घटना में शामिल तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

तीनों आरोपितों ने इस घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर लिया है। गिरफ्तार तीनों आरोपित पुराना शहर वार्ड संख्या दो के निवासी हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि युवक और युवती दाउद खां का किला घूमने गए थे। इसी दौरान आरोपितों ने उन्हें पकड़ लिया। शमशाद उर्फ गुड्डू द्वारा उसके साथ युवक-युवती के साथ मारपीट की गई, जो वायरल वीडीयो में साफ दिख रहा है।

इसे भी पढ़ें

Video viral: दंगल गर्ल जायरा वसीम ने फ्लाइट में छेड़खानी करने वाले की निकाली वीडियो

जबकि पिंटू उसका वीडियो बना रहा था और वीडीयो बनाकर शेयर इट के माध्यम से शमशाद उर्फ गुड्डू को दिया। शमशाद ने उस वीडीयो को अन्य लोगों के पास शेयर कर दिया। रघुनाथ नारायण राय पर आरोप है कि घटना के समय वे वहां पर मौजूद थे और युवती उनसे बचाने की गुहार लगा रही थी, लेकिन उन्होंने बचाना तक उचित नहीं समझा। यह भी वीडीओ में दिख रहा है।

तीनों आरोपियों ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए पुलिस को बताया है कि यह घटना करीब एक महीना पुरानी है। उस समय इंटरमीडिएट की 11 वीं कक्षा की परीक्षा चल रही थी और युवक युवक-युवती दाउद खां का ऐतिहासिक किला में घूमने गए थे।

थानाध्यक्ष ने बताया कि वीडीयो वायरल होने के बाद इसकी गहन छानबीन की गई और उनके बयान पर एक प्राथमीकी दर्ज की गई, जिसमें एक नामजद, तीन अज्ञात और वीडीयो वायरल करने वाले मोबाइल धारक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। वीडीयो वायरल करने वाले मोबाइल धारक की पहचान की जा रही है। जितने मोबाइल धारकों द्वारा वीडीयो को वायरल या शेयर किया गया होगा, उन सब की पहचान की जाएगी और उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

इस प्रकार पुलिस ने वीडीयो वायरल होने के कुछ ही घंटे के भीतर इस मामले का खुलासा कर लिया है। खुलासा टीम में एसडीपीओ एवं थानाध्यक्ष के अलावे दाउदनगर थाना के सब इंस्पेक्टर शेखर सौरभ, राजाराम राय एवं शौकत खान शामिल थे।