नई दिल्ली : भारत सरकार ने सोशल नेटवर्किंग दिग्गज फेसबुक से उन खबरों पर स्पष्टीकरण मांगा है, जिसमें कहा गया कि उसने अन्य डिवाइस निर्माताओं को यूजर्स की स्पष्ट सहमति के बिना उनकी निजी जानकारी मुहैया कराई, जिसमें उनके दोस्तों की जानकारी भी शामिल थी।

आईटी मंत्रालय द्वारा यहां गुरुवार को जारी बयान के मुताबिक, "भारत सरकार ऐसी चूक और उल्लंघन को लेकर गहराई से चिंतित है।"

इसे भी पढ़ें

राजनीतिक विज्ञापन को लेकर फेसबुक और गूगल पर मुकदमा

बयान में आगे कहा गया, "क्रैंबिज एनालिटिका मामले में निजी डेटा के उल्लंघन के बारे में पूर्व नोटिसों के जवाब में फेसबुक ने माफी मांगी थी और भारत सरकार को आश्वासन दिया था कि वे प्लेटफार्म पर यूजर्स के डेटा की गोपनीयता की रक्षा के लिए ईमानदार प्रयास करेंगे।"

इसे भी पढ़ें

जीडीपीआर असर : गूगल, फेसबुक पर 9 अरब डॉलर का जुर्माना संभव

सरकार ने कहा कि हालांकि ऐसी खबरों से फेसबुक द्वारा दिए गए आश्वासन पर असहज सवाल उठाती है।

बयान में कहा गया, "इसलिए, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने फेसबुक से विस्तृत तथ्यात्मक रिपोर्ट के साथ आश्वासन मांगा है. फेसबुक को 20 जून तक जवाब देने को कहा गया है।"