नई दिल्ली : नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट ने भारत की अपनी यात्रा बीच में ही छोड़ दी है और वह आज रात को स्वदेश लौट रहे हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विदेश मंत्रालय को अचानक लिए गए इस फैसले के बारे में सूचित कर दिया गया है। कुछ घरेलू मुद्दों की वजह से यह फैसला लिया गया है।

सूत्रों ने बताया कि केवल नीदरलैंड के प्रधानमंत्री और उनके सलाहकार वापस जा रहे हैं और बाकी प्रतिनिधिमंडल तय कार्यक्रम के अनुसार सभी कार्यक्रमों में शामिल होगा। रूट दो दिवसीय यात्रा पर आज यहां पहुंचे थे। रूट का आज रात को बेंगलुरू जाने का कार्यक्रम था।

इसे भी पढ़ें

भारत-नीदरलैंड के बीच विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग पर हुई चर्चा

उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री को इसलिए वापस लौटना पड़ रहा है, क्योंकि कल मंत्रिमंडल की एक आपात बैठक बुलाई गई है। जिसमें वर्ष 2014 में एमएच-17 यात्री विमान के यूक्रेन पर गिराने को लेकर नीदरलैंड और अन्य देशों के जांचकर्ताओं के दल की नई रिपोर्ट पर चर्चा होगी।

उन्होंने दावा किया कि 17 जुलाई 2014 को विमान को गिराने में रूसी मिसाइल का इस्तेमाल किया गया था जिसमें विमान में सवार सभी 298 यात्री मारे गए थे।