नई दिल्ली : कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा के शपथ लेने के बाद उन्हें राज्यपाल के सामने बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त मिला है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी को 112 विधायकों के हस्ताक्षर वाली चिट्ठी कल सौंपने का समय दिया है। इस बीच कांग्रेस और जेडीएस में अपने विधायकों के खरीद-परोख्त का डर सताने लगा है। जिसको लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेता भी चिंतित नजर आ रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक बीजेपी भी कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों की खरीद-परोख्त में जुट गई है। जिसको देखते हुए कांग्रेस और जेडीएश अपने विधायकों को एकजुट रखने का प्रयास कर रही है।

इन्हें भी पढ़ें

BJP के खिलाफ कांग्रेस ने चला बड़ा दांव, गोवा में ऐसे बनाएगी सरकार!

तेजस्वी यादव को रास आया कर्नाटक ‘फार्मूला’, नीतीश सरकार की बढ़ी मुश्किलें

मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस विधायक टूटकर बीजेपी खेमे में ना जाने पाएं, इसके लिए दोनों पार्टी के नेता सभी 115 विधायकों को कोच्ची में शिफ्ट कर सकती है। जिससे फ्लोर टेस्टिंग में येदियुरप्पा फेल हो जाएं और कांग्रेस जेडीएस की प्रदेश में सरकार बना जाए।