मुंबई : केन्द्र सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्रों में पिंक बॉलवार्म के हमले के कारण हुए फसलों के नुकसान का आकलन करने महाराष्ट्र पहुंचा। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। पिछले साल हुए पिंक बॉलवॉर्म के हमले के कारण मराठवाड़ा और विदर्भ के कई गांवों में बड़े पैमाने पर फसलों का मुख्यत : कपास फसल को नुकसान हुआ।

फसल हानि के लिए किसानों को केन्द्रीय सहायता देने से पहले केंद्रीय टीम द्वारा नुकसान का मूल्यांकन किया जाना जरूरी है। प्रदेश के कृषि मंत्रालय के प्रधान सचिव बिजयकुमार ने पीटीआई - भाषा को आज बताया, " पिंक बॉलवार्म के हमले के कारण फसलों को हुए नुकसान का आकलन करने के लिए केन्द्रीय प्रतिनिधिमंडल का यह एक नियमित लेकिन अनिवार्य यात्रा है।

उन्होंने कहा, " राज्य सरकार ने केन्द्र से 1,221 करोड़ रुपये की सहायता मांगी है, एक बार प्रतिनिधिमंडल वित्त मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट जमा करता है , तो हमें धन प्राप्त होगा। " प्रदेश कृषि विभाग के एक अधिकारी के अनुसार यह प्रतिनिधिमंडल पहले औरंगाबाद और उस्मानाबाद जिलों में कुछ गांवों का दौरा करेगा और किसानों से बातचीत करेगा।

उसके बाद , वे विदर्भ क्षेत्र के प्रभावित गांवों में जाएंगे और मूल्यांकन पूरा करेंगे। अधिकारी ने कहा, " शनिवार को प्रतिनिधिमंडल मुंबई पहुंचेगा और राज्य के अधिकारियों से मिलने के बाद, सदस्य अगले दिन नयी दिल्ली के लिए रवाना होंगे।'' हालांकि, किसान नेता माणिक कदम ने जानना चाहा कि प्रतिनिधिमंडल राज्य में इतनी " देर से " दौरा क्यों कर रहा है।