नई दिल्ली : कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद JDS को समर्थन देने और कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने के कांग्रेस के फैसले ने सभी को चौका दिया है। कांग्रेस के इस फैसले ने राज्य की राजनीति में नया समीकरण गढ़ डाला है। इस फैसले को राहुल के 'प्लान B' के तौर पर देखा जा रहा है। वहीं मीडिया रिपोर्टस में यह बात सामने आई है कि कांग्रेस के इस प्लान में राहुल की बहन प्रियंका ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। खबरों के मुताबिक राहुल गांधी ने यह फैसला अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा की सलाह पर लिया है।

रिपोर्ट के अनुसार प्रियंका की इस सलाह पर पहले राहुल सहमत नहीं हुए थे। वह किसी भी तरह से जेडीएस को मुख्यमंत्री पद नहीं देना चाहते थे। इससे पहले भी वह चुनाव के दौरान जेडीएस से गठबंधन करने की बात को अस्वीकार कर चुके थे। लेकिन प्रियंका को वह नहीं ठुकरा पाए और बाद में वह मान गए।

इसे भी पढ़ें

“सरकार बनाने के लिए कुछ भी कर सकती है भाजपा”, कांग्रेस ने बुक कराया रिसॉर्ट

बता दें कि राहुल ने फरवरी में जेडीएस पर हमला बोलते हुए उसे बीजेपी की 'बी टीम' करार दिया था। कुमारस्वामी को सीएम बनाने के मसल पर सहमति के बाद जेडीएस और कांग्रेस की गठबंधन सरकार को मूर्त रूप देने की कवायद शुरू हो गई थी। कुमारस्वामी कांग्रेस नेताओं के साथ मंगलवार को ही राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया था। हालांकि, उनसे पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता येदियुरप्पा राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके थे।

इसे भी पढ़ें

कर्नाटक चुनाव : कांग्रेस में भाजपा ने लगाई सेंध, 5 विधायक ‘लापता’!

गौरतलब हो कि 15 मई को आए कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों में 104 सीटें पाकर बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। वहीं 78 सीटें पाकर कांग्रेस दूसरे नंबर पर है तो 38 सीटों के साथ जेडीएस तीसरे नंबर पर काबिज है। त्रिशंकु विधानसभा होने के कारण सरकार बनाने के लिए तीनों दलों में रस्साकसी जारी है।