रायपुर : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में नक्सलियों ने पुल
निर्माण कार्य में लगे चार वाहनों में आग लगा दी तथा एक कर्मचारी की हत्या कर दी। बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने बताया है कि जिले के मोदकपाल थाना क्षेत्र के अंतर्गत चिन्नाकोडेपाल गांव स्थित सीआरपीएफ के शिविर के करीब नक्सलियों ने पुल के निर्माण में लगे चार वाहनों में आग लगा दी तथा कंस्ट्रक्शन कंपनी के कर्मचारी बतोई पाल की हत्या कर दी।

अधिकारियों के मुताबिक पुलिस को जानकारी मिली कि हथियारबंद नक्सली घटनास्थल पहुंचे और उन्होंने वहां दो मिक्सर मशीन, एक ट्रक और एक बोलरो वाहन में आग लगा दी। बाद में नक्सलियों ने धारदार हथियार से कर्मचारी पाल की हत्या कर दी। पाल बीजापुर का निवासी था। घटना को अंजाम देने के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया है कि घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया।

इसे भी पढ़ें :

छत्तीसगढ़ : नक्सलियों ने नौ ट्रैक्टरों में लगाई आग, कहा- दुबारा आए...

पुलिस ने पाल के शव को बरामद कर लिया है तथा उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि घटना के बाद से पुलिस दल को खोजी अभियान में रवाना कर दिया गया है। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि हाल ही में बीजापुर, उड़ीसा के मलकानगिरी और महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई के बाद से नक्सली हताश हैं। इसलिए वह अपना गुस्सा सड़क निर्माण कार्य में लगे वाहनों और कर्मचारियों पर उतार रहे हैं।

इस वर्ष मार्च माह में नक्सलियों ने बीजापुर जिले के ही तुमनार और कोइटपाल गांव के मध्य चार वाहनों में आग लगा दी थी और ठेकेदार की हत्या कर दी थी।