बेंगलुरू : कर्नाटक में सरकार गठन को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। भाजपा समेत कांग्रेस व जेडीएस अपने-अपने विधायकों को संभालने में जुटी हुई हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भाजपा उसके विधायकों को धमका रही है और लालच देकर तोड़ने का प्रयास कर रही है। इस बीच खबर है कि भाजपा कांग्रेस और जेडीएस के 15 विधायकों को अपनी तरफ लेने की कोशिश कर रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इसके लिए श्रीरामलु सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को भाजपा ने जिम्मेदारी सौंपी है। अभी तक लिंगायत समुदाय के 5 विधायकों के 'लापता' होने की सूचना है। इन विधायकों के लापता होने से कांग्रेसी खेमे में खलबली है।

यह भी पढ़ें :

येदियुरप्पा को आज चुना जाएगा भाजपा विधायक दल का नेता, सरकार बनाने का दावा करेंगे पेश

सूत्रों के मुताबिक, बीएस येदियुरप्पा अपना दिल्ली के दौरा रद्द करने के बाद से ही सरकार बनाने की जुगत में लग गए थे और कहा यह भी जा रहा है कि इन्होंने कांग्रेस और जेडीएस के उन तमाम विधायकों के साथ एक गोपनीय बैठक भी की है, जो इनके प्रति सॉफ्ट कॉर्नर रखते हैं और मौका पड़ने पर किसी भी तरह से मदद करने को तैयार हैं।

कहा यह भी जा रहा है कि एचडी देवगौड़ा के बेटे रेवन्ना के साथ भाजपा गुप्त समझौता करने की कोशिश में लगी है। भाजपा ने कहा कि रेवन्ना वर्ग अगर हमारे साथ आता है तो कर्नाटक की सत्ता में भागीदार के साथ-साथ केंद्र में भी जगह दी जाएगी।