हैदराबाद : चीन में चोंगक्यूंग से ल्हासा के लिए जा रहे शिचुआन एयरलाइंस के विमान-3U8633 की अचानक कॉकपिट की खिड़की टूटने की खबर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। कॉकपिट की खिड़की जब टूटी थी तब वह करीब 32000 फुट की ऊंचाई पर था और हवा इतनी तेज चल रहा था कि को-पायलट विमान से बाहर लटक जाने के अलावा यात्रियों का सामान तितर-बितर होने से यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई।

तभी एक पायलट ने अनाउंस करते हुए यात्रियों से कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है और हम स्थिति को संभाल लेंगे। इसके करीब 25 मिनट बाद 32 हजार फुट ऊंचाई पर उड़ रहे विमान को लैंड कराया गया और उसमें सवार सभी यात्री सुरक्षित रहे।

नेटिजन विमान को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचाने वाले पायलट लियू शुआनजियान की जमकर तारीफ कर रहे हैं। लियू ने बताया कि वह इस मार्ग पर 100 से अधिक उड़ाने भर चुका और उसे उसी का फायदा मिला।

फ्लाइट के अंदर का तापमान -40 पहुंच चुका था. जिसके बाद पायलट लियू ने 'स्क्वैक वॉर्निग-7700' जारी की.' इसका मतलब है कि विमान को गंभीर खतरा है, एयर ट्रैफिक कंट्रोल को सूचना दी जाती है. उनके निर्देश को पालन करते हुए लैडिंग कराई जाती है. ट्रैफिक कंट्रोल से मदद लेकर उन्होंने सफल लैंडिंग कराई.

एक पैसेंजर ने बताया-''जिस वक्त क्रू हमें नाश्ता दे रहा था उसी वक्त एयरक्राफ्ट हिलने लगा। हमें समझ नहीं आ रहा था कि आखिर हो क्या रहा है। अचानक ऑक्सीजन माक्स बाहर निकल आए थे। ऐसा लग रहा था कि हम काफी रफ्तार में नीचे की तरफ जा रहे हैं,लेकिन कुछ ही देर में सब समान्य हो गया।''