नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्रियों प्रचंड और शेर बहादुर देउबा एवं विपक्षी नेताओं से मिले। इस दौरान उन्होंने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के तरीकों को लेकर विस्तृत चर्चा की। इससे पहले वह कल नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली से मिले थे, जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच लंबी प्रतिनिधिमंडल स्तरीय वार्ता भी हुई थी, जिसमें दोनों देशों ने द्विपक्षीय संबंधों के सभी पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की गई थी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्विटर पर लिखा, ''प्रधानमंत्री मोदी कॉम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल- एमसी (माओइस्ट सेंटर) के प्रमुख पुष्प कमल दहल 'प्रचंड' से मिले। द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए विचारों का आदान प्रदान किया।

इसे पढ़ें

नेपाल पहुंचे PM मोदी का जोरदार स्वागत, जानकी मंदिर में की माता सीता की आरती

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्विटर पर लिखा कि दोनों नेताओं ने भारत- नेपाल संबंधों से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर भी चर्चा की। रवीश ने दूसरा ट्वीट किया, ''राजनीतिक क्षेत्र के तमाम पक्षों के साथ मुलाकात। नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष एवं पूर्व प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा और नेपाली कांग्रेस के दूसरे सदस्य काठमांडू में प्रधानमंत्री मोदी से मिले। मजबूत भारत- नेपाल संबंधों को व्यापक राजनीतिक समर्थन हासिल है।''

उन्होंने साथ ही कहा कि मोदी राष्ट्रीय जनता पार्टी नेपाल के एक प्रतिनिधिमंडल से भी मिले, जिसका नेतृत्व महंता ठाकुर ने किया था। रवीश ने कहा कि चर्चा 'सकारात्मक एवं विस्तृत' थी। मोदी ने पार्टी को उसके हालिया चुनावी प्रदर्शन के लिए बधाई दी और नेपाल के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने को लेकर विचारों का आदान प्रदान किया।

इसे पढ़ें

पीएम मोदी ने की मुक्तिधाम मंदिर में पूजा-अर्चना, नेपाल दौरे का आज आखिरी दिन

विदेश सचिव विजय गोखले ने मोदी की बैठकों को लेकर संवाददाताओं से कहा कि नेपाली नेताओं के साथ प्रधानमंत्री की मुलाकातें ''संक्षिप्त एवं अच्छी'' थीं। प्रधानमंत्री ने कल नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी और उपराष्ट्रपति नंद बहादुर पुन से भी शिष्टाचार भेंट की थी।