नई दिल्ली : ट्विटर के सह - संस्थापक बिज स्टोन ने दिल्ली के एक स्वास्थ्य आधारित स्टार्ट - अप में निजी तौर पर निवेश किया है जिसके एप्प में आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस आधारित चैटबोट का उपयोग किया जाता है। स्टोन ऐसे भविष्य के निर्माण में योगदान चाहते हैं जहां एआई को मानव जाति के सकारात्मक विकास के तौर पर देखा जाए।

विजिट ' नामक स्वास्थ्य सेवा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की शुरूआत 2016 में की गयी थी जिस पर लोगों को चिकित्सा विशेषज्ञों और जनरल फिजिशयन से परामर्श के लिए उन्हें चुनने का विकल्प मिलता है।

इसने हाल ही में एक आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस आधारित चैटबोट ' की शुरूआत की जो डॉक्टरों से परामर्श लेने में रोगियों की मदद के लिए डिजिटल सहायक के रूप में कारगर होता है। इस स्टार्ट - अप के सह - संस्थापक वैभव सिंह का दावा है कि यह देश का पहला एआई आधारित स्वास्थ्य एप्प है और उन्होंने इस पहलू को आगे रखते हुए ही निवेशकों को आकर्षित करने का प्रयास किया है।

स्टार्ट - अप में पैसा लगाने वाले सिलिकॉन वैली के तीन निवेशकों में शामिल स्टोन ने कहा कि विजिट ' एआई और डॉक्टरों के बीच एक प्रतीकात्मक संबंध बनाता है जिससे रोगियों के लिए सकारात्मक परिणाम निकलते हैं। स्टोन ने पीटीआई से कहा , इसलिए मैं इस तकनीक से मानव जाति के लाभ को लेकर आशान्वित हूं। विजिट में निवेश करके मैं उस भविष्य के निर्माण में छोटा सा योगदान दे रहा हूं जहां एआई को मानव जाति के सकारात्मक विकास के रूप में देखा जाता है जिससे वास्तव में जीवनस्तर में सुधार होता है।

'विजिट' की शुरूआत बिट्स पिलानी के चार छात्रों ने की थी जिसमें 24 साल के वैभव भी शामिल हैं। उनके उपक्रम में मैपमाईइंडिया ने भी निवेश किया है। कंपनी का दफ्तर दक्षिण दिल्ली के ओखला में है। वैभव सिंह ने बताया कि उनके उपक्रम में निवेश करने वाले भारतीयों में स्नैपडील के सह - संस्थापक कुणाल बहल और रोहित बंसल भी शामिल हैं।