हैदराबाद : वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के मेकापाटी राजमोहन रेड्डी ने बयान दिया है कि आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग की ओर केंद्र नजरअंदाज कर रही है। आंध्र प्रदेश के विभाजन के दौरान भाजपा ने जो आश्वासन दिए, उन आश्वासनों को पूरा नहीं किया जा रहा है। साथ चंद्रबाबू भी विशेष दर्जे के लिए वाईएसआर कांग्रेस पार्टी द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन को चंद्रबाबू असफल बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

मेकापाटी ने आगे कहा है कि आंध्र प्रदेश में भाजपा के घटते जनाधार को देखते हुए चंद्रबाबू ने गठबंधन तोड़ दिया है। केंद्र ने विशाखापट्टनम रेलवे जोन, कड़पा लोह उत्पाद केंद्र आदि आश्वासनों को पूरा नहीं किया है। भाजपा के रवैये के चलते आंध्र प्रदेश में जनाधार घट रहा है। उधर, चंद्रबाबू के रवैये के चलते लोगों में विशेष दर्जे की मांग जोर पकड़ रही है।

इसे भी पढ़ें :

विशेष दर्जा को लेकर YSRCP सांसदों ने राष्ट्रपति से की मुलाकात, ये हुई बातें

मेकापाटी राजमोहन रेड्डी ने कहा है कि विशेष दर्जे को लेकर वाईएस जगनमोहन रेड्डी के नेतृत्व में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने आंदोलन गत चार वर्ष से जारी रखा है। उन्होंने आगे कहा है कि आगामी चुनाव में आंध्र प्रदेश के लोग चंद्रबाबू और नरेंद्र मोदी को सबक सिखाएंगे। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि वर्ष 2019 के चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी खुद के बलबूते पर चुनाव लडेगी। चुनाव होने के बाद किस पार्टी को समर्थन देना है, इस पर विचार किया जाएगा।