नई दिल्ली : इस बार देश में मानसून सामान्य रहेगा। मौसम विभाग ने संभावना जतायी है कि इस बार मानसून कम नहीं रहेगा। भारत मौसम विभाग के महानिदेशक केजी रमेश ने बताया कि इस साल देश में मानसून लंबी अवधि का औसत 97 फीसदी रहेगा जो इस मौसम के लिए सामान्य होगा।

उन्होंने बताया कि देश में मानसून में कमी रहने की "बहुत कम संभावना'' है। मानसून के शुरुआत की तिथि की घोषणा मई के मध्य में की जाएगी। देश में उस मानसून को सामान्य माना जाता है जब औसत बारिश, लंबी अवधि के औसत का 96 से 104 फीसद रहती है।

यह भी पढ़ें :

उत्तर भारत में मौसम ने ली करवट, बारिश से तापमान गिरा

हैदराबाद में तेज हवाओं के साथ बारिश का कहर ,निचले इलाकों में भरा पानी

उन्होंने कहा कि मानसून मई के मध्य में सबसे पहले केरल पहुंचेगा और 45 दिनों के अंदर पूरे देश में पहुंचेगा। यह लगातार तीसरा वर्ष है जब मानसून सामान्य रहेगा। देश में करीब 45 प्रतिशत सिंचित क्षेत्र है और शेष भूमि पर वर्षा आधारित खेती की जाती है, जिसके लिए मानसून का सामान्य रहना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है।