काबुल : अफगानिस्तान की जांच चौकी पर तालिबान के हमले में अफगान अर्द्धसैनिक बल के कम से कम 11 सैनिक मारे गये। उत्तरी सारी पुल प्रांत के गर्वनर के प्रवक्ता जाबी अमानी ने बताया कि शनिवार की शाम को हुये हमले में बल के दो अन्य सदस्य घायल हो गये।

उन्होंने बताया कि एक स्थानीय कमांडर सहित तीन आतंकवादी मारे गये और चार अन्य घायल हो गये। जिन्हें निशाना बनाया गया वे सरकार समर्थित मिलिशिया ‘ लोकल अपराइजिंग फोर्स' के सदस्य थे। तत्काल किसी ने भी हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन अमानी ने इलाके में मौजूद तालिबान पर आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें :

लापता भारतीय परिवार का सामान नदी से बरामद

अमेरिका ने सीरिया के खिलाफ छेड़ा युद्ध, फ्रांस-ब्रिटेन ने मिलकर शुरू किए हवाई हमले

प्रांतीय गर्वनर के प्रवक्ता आरिफ नूरी के मुताबिक , अफगानिस्तान में दूसरी जगह आतंकवादियों ने पूर्वी गजनी प्रांत में दो सुरक्षा जांच चौकियों पर हमला किया और इसमें चार पुलिस कर्मी मारे गये और पांच अन्य घायल हो गये। उन्होंने बताया कि तालिबान ने जांच चौकियों पर अंधाधुंध गोलीबारी की और इसके बार सड़क किनारे बम लगा कर भेजे गये अतिरिक्त सुरक्षा बल को निशाना बनाया।

प्रांत के बड़े हिस्से पर नियंत्रण रखने वाले तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली और कहा है कि उसने हथियारों और गोलाबारूद पर कब्जा कर लिया। गुरूवार की रात को गजनी के एक अन्य हिस्से में तालिबान ने एक सरकारी परिसर पर हमला किया । कई घंटों तक चली मुठभेड़ में तीन वरिष्ठ स्थानीय अधिकारियों सहित 15 लोग मारे गये थे।