कानपुर : उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात यानी राष्ट्रपति के गृह जनपद में पानी भरने को लेकर हुए विवाद में तीन दबंग युवकों ने एक दलित किशोरी पर मिट्टी तेल डालकर आग लगा दी। गंभीर रूप से झुलसी किशोरी को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे कानपुर के हैलट अस्पताल रेफर किया गया है।

यह घटना राजपुर थाना क्षेत्र के बैना गांव की है। उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म मामले में अपनी किरकिरी करा चुकी पुलिस का कहना है कि लड़की ने अपने आप को आग लगा ली। अभी जांच-पड़ताल चल रही है।

बैना गांव निवासी की बेटीने इस साल हाईस्कूल की परीक्षा दी है। ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार देर शाम वह पड़ोस में लगे सरकारी हैंडपंप पर पानी भरने गई थी। वहां पड़ोस में रहने वाले रमेश के दबंग बेटों सोनू, नीरज और वीरू से पहले पानी भरने को लेकर उसका झगड़ा हो गया।

पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि युवकों ने उससे मारपीट की और उसकी बाल्टी फेंक दी। विरोध करने पर तीनों ने अपने दो दोस्तों के साथ उसे पीटा और घर की ओर दौड़ी छात्रा को पकड़ लिया और उसके बदन पर मिट्टी तेल डालकर आग लगा दी।

यह भी पढ़ें :

मोदी का दलित प्रेम सिर्फ दिखावा है, BJP सरकार में SC-ST पर अत्याचार बढ़ा है : मायावती

भाजपा के एक और दलित सांसद ने की ‘बगावत’, कहा- मोदी सरकार ने 4 साल में कुछ नहीं किया

किशोरी की चीख-पुकार सुन कर मौके पर पहुंचे लोगों ने आग बुझाई और परिजनों व पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने किशोरी को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे कानपुर के हैलट अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

पुलिस ने आरोपी सोनू नीरज वीरू और उनके दोस्त रज्जन और सरजू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। हालांकि राजपुर के एसओ का कहना है कि उन्हें बताया गया है कि विवाद के बाद लड़की ने खुद को आग लगा ली। उन्होंने कहा कि फिलहाल जांच-पड़ताल की जा रही है। आरोपियों की तलाश जारी है।

-आईएएनएस