बीजिंग : चीन ने सोमवार को कहा कि वह भारत से बाहर भाग चुके भारतीय आभूषण कारोबारी नीरव मोदी की गिरफ्तारी के लिए कोई हस्तक्षेप नहीं करेगा। ऐसा संदेह जताया जा रहा है कि नीरव हांगकांग में हो सकता है। बीजिंग ने कहा है कि चीनी स्वायत्त क्षेत्र के पास अपने कानून हैं। भारत वहां के अधिकारियों के साथ सीधे संपर्क कर सकता है।

भारत, दो अरब डॉलर की बैंक धोखाधड़ी के मामले के मुख्य आरोपी नीरव को गिरफ्तार करने के लिए चीन से बार-बार आग्रह कर रहा है, जिसके चीनी क्षेत्र में होने की संभावना है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा, "एक देश दो प्रणाली और हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एसएआर) के बुनियादी कानून के अनुसार हांगकांग एसएआर अन्य देशों के साथ न्यायिक पारस्परिक सहायता पर उचित व्यवस्था कर सकता है।"

इसे भी पढ़ें :

PNB फ्रॉड : नीरव मोदी-मेहुल चौकसी के खिलाफ गैर जमानती वारंट

गेंग ने कहा, "अगर भारत ने हांगकांग एसएआर (विशेष प्रशासनिक क्षेत्र) को एक उचित अनुरोध किया है तो हम इस मामले को हांगकांग एसएआर पर छोड़ते हैं और उम्मीद करते हैं कि वे भारत के साथ प्रासंगिक मुद्दे से निपटने के लिए बुनियादी कानूनों और प्रासंगिक न्यायिक प्रणाली के समझौते का पालन करेंगे।"