नई दिल्ली : मोदी कैबिनेट ने नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम यानी आयुष्मान भारत को बुधवार की शाम को मंजूर दे दी है। इस योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना कहा जा रहा है, इसलिए लोग इस मेदीकेयर भी कह रहे हैं। इस योजना के तहत हर परिवार को पांच लाख रुपये तक का हेल्थ इंश्योरेंस मिलेगा। इसमें परिवार के सदस्यों की संख्या की कोई अधिकतम सीमा नहीं है। योजना के तहत कौन से परिवार आएंगे, इसका फैसला आर्थिक आधार पर किया जाएगा।

इन अस्पतालों में होगा इलाज

बताया जा रहा है कि इस योजना के दायरे में आने वाले परिवारों को सरकारी और चुने हुए प्राइवेट अस्पतालों में इलाज की सुविधा मिलेगी। जो परिवार इस योजना के तहत आएंगे, उन्हें इलाज की सुविधा देश भर में कही भी मिल सकेगी।

इन्हें भी पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल करेंगे मेट्रो रेल का उद्घाटन

..तो क्या इस वजह से राहुल गांधी से डरने लगे हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी..!

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 12 से 14 नवंबर तक फिलिपीन की यात्रा पर जायेंगे

ये हैं मानक

इस स्कीम के लिए सरकार ने कुछ मानक तय किए हैं। उन्हें लोगों को पांच लाख रुपये के कवर का फायदा मिलेगा जो तय मानकों को पूरा करेंगे।

ग्रामीण क्षेत्र के लिए मानक

ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले ऐसे लोगों को इसका फायदा मिलेगा, जो एक कमरे के कच्चे मकान में रहते हैं। खपरैल में रहने वाला परिवार और ऐसे परिवार जिनमें 16 से 59 वर्ष के बीच की उम्र का कोई वयस्क नहीं है। इसके साथ ही ऐसे परिवारों को भी इसका लाभ मिलेगा। जिनकी मुखिया महिला हैं और परिवार में 16 से 59 वर्ष की उम्र का कोई पुरुष नहीं है। उन परिवारों को भी इसका फायदा मिलेगा जिसमें दिव्यांग सदस्य है और उनकी देखभाल करने के लिए कोई वयस्क नहीं है।

SC-ST के साथ इन परिवारों को मिलेगा फायदा

एससी और एसटी के साथ ही ऐसे परिवारों को इसका फायदा मिलेगा, जिनके पास जमनी ना के बराबर हो और उनकी आय मजदूरी पर आधारित हो। कानूनी रूप से बंधुआ मजदूरी से मुक्त कराए गए लोग भी इसमें शामिल होंगे। जिनके पास छत न हो, तो उन्हें भी इसका फायदा मिलेगा।

शहरी क्षेत्र के इन लोगों को मिलेगा फायदा

शहरी क्षेत्र में रह रहे गरीबों को इस स्कीम का फायदा मिलेगा। इसके लिए श्रेणी तय की गई है। जिसके तहत गरीबों को 11 श्रेणियों में बांटा गया है।

ये खर्च होंगे शामिल

इस स्कीम के तहत अस्पताल में इलाज से पहले और बाद में आने वाले खर्च को भी शामिल किया गया है। इसके साथ ही ट्रांपोर्टेश अलाउंस का जिक्र भी इस योजना में किया गया है। जिसका फायदा लाभार्ती को मिलेगा।

सभी गंभीर बीमारी रहेंगी शामिल

इस योजना के तहत सालाना पांच लाख रुपये तक का कवल मिलेगा। इसमें करीब सभी गंभीर बीमारियों को शामिल किया गया है।