नई दिल्ली: संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा में मंगलवार को भी विपक्षी दलों के हंगामे के कारण सदन में कोई कामकाज नहीं हुआ और सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई।

इससे पहले स्थगन के बाद दोपहर दो बजे जैसे ही कार्यवाही शुरू हुई, कुछ सांसद हाथों में प्लाकार्ड लिए सभापति के आसन के पास पहुंच गए। उपसभापति पी.जे.कुरियन ने बार-बार उनसे अपनी सीटों पर जाने का आग्रह किया लेकिन वे टस से मस नहीं हुए। इसके बाद कुरियन ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

विपक्षी सांसद 12,600 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले और अन्य बैंकिंग घोटालों को लेकर स्थगन प्रस्ताव के तहत चर्चा की मांग कर रहे हैं। सभापति एम.वेंकैया नायडू ने नियम 267 और 168 के तहत विपक्ष की चर्चा की मांग खारिज कर दी।

YSRCP सांसद सहित तेदेपा के सांसद केंद्र की और से आंध्र प्रदेश को विशेष वित्तीय मदद और विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग कर रहे हैं, जबकि एआईएडीएमके के सांसद तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कावेरी जल बंटवारे को लेकर विरोध कर रहे थे।