लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती ने भाजपा में शामिल हुए नरेश अग्रवाल की सपा सांसद जया बच्चन के खिलाफ की गयी अभद्र टिप्पणी को घोर महिला विरोधी बताते हुए कहा कि अग्रवाल को इसके लिए तुरंत अपनी गलती मानकर देश से माफी मांगनी चाहिये। मायावती ने आज एक बयान में कहा कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ प्रेस कांफ्रेन्स में ऐसी महिला विरोधी टिप्पणी महिला जगत एवं देश को शर्मिन्दा करने वाली है तथा भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को इसको गम्भीरता से जरूर चाहिये।

पिछले अनुभवों के आधार पर यह लगता है कि भाजपा नेतृत्व महिला विरोधी मानसिकता रखने वालों के प्रति गंभीर नहीं है जितना उसे होना चाहिये। मायावती ने कहा कि जया बच्चन एक सम्मानित नाम है और वह एक सम्मानित परिवार से आती हैं। फिल्म जगत में उनके परिवार का भारी योगदान है, वह एक सांसद भी है। उनके विरूद्ध अग्रवाल की विवादित व महिला-विरोधी टिप्पणी अति निन्दनीय है।

गौरतलब है कि कल ही भाजपा में शामिल हुए सपा के राज्यसभा सदस्य अग्रवाल ने राज्यसभा चुनाव के लिये सपा की उम्मीदवार जया बच्चन पर निशाना साधते हुए कहा था कि सपा ने उनके 40 साल के राजनीतिक अनुभव को उपेक्षित करके फिल्मों में नाचकर अपनी भूमिका निभाने वालों को टिकट दिया है। बाद में आज राज्यसभा सदस्य अग्रवाल ने अभिनेत्री और सपा सांसद जया बच्चन के बारे में अपने बयान पर खेद जताते हुये कहा है कि उनके बयान को मीडिया में तोड़मरोड़ कर पेश किया गया। अग्रवाल ने कहा, ‘‘मेरी मंशा किसी की भावनाओं को आहत करने की नहीं थी। अगर मेरे बयान से किसी की भावनायें आहत हुई हों तो उसके लिये मैं खेद प्रकट करता हूं।'

नरेश अग्रवाल को उनकी विवादित टिप्पणी के लिए केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने भी आलोचना की। हालांकि अग्रवाल ने इसके लिए माफी मांग ली है, उनके मुताबिक अगर उनकी किसी बात से किसी को ठेस पहुंची है तो वे माफी मांगते हैं।