हैदराबाद : सस्ता हवाई सफर करवाने वाली एयरलाइंस के रूप में अपनी पहचान बना चुकी एयर एशिया इंडिया फिर से एक जबरदस्त ऑफर लेकर आई है। अगर आप भी कहीं अपने दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ यात्रा करने की सोच रहे है तो, इससे अच्छा और सस्ता ऑफर आगे कब मिले ये कहना तो मुश्किल होगा, लेकिन अगर आप इन दिनों ही कहीं घूमने का इरादा कर रहे है तो एयर एशिया आपके लिए एक बेहतरीन ऑफर लेकर आया है। जो आपको भारत की नहीं बल्कि विदेश यात्रा करायेगा।

ये भी पढ़ें--

विदेश सफर करने वालों के लिए खुशखबरी , एयर एशिया दे रहा है शानदार ऑफर

बता दें एयर एशिया #BeattheBudget सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है, दरअसल वो इसलिए क्योंकि एयर एशिया आपको सिर्फ और सिर्फ 1999 में विशाखापट्टनम से कुआलालंपुर का सफर तय करायेगा। जी हां एयर एशिया की विदेश की फ्लाइट्स का ये ऑफर देखकर अगर आपका मन बन गया हो घूमने का तो आप देर मत कीजिए..और एयर एशिया के साइट पर जाके तत्काल टिक्ट्स बुक कर लीजिए।

हालांकि कई एयरलाइंस कंपनियां ऑफ सीजन में तमाम तरीके के ऑफर निकालती रहती है। माना जा रहा है कि इसी के चलते एयर एशिया ने ये ऑफर दिया है। ऐसा माना जा सकता है कि आने वाले समय में और भी एयरलाइंस इस तरह के ऑफर निकाल सकती हैं।

चलिए आपको बता दें कि कुआलालंपुर में आप क्या और कहां घूमने जा सकते है।

दर्शनीय स्थल

* कुआलालंपुर के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में सर्वप्रथम गगनचुंबी जुड़वां इमारत पेट्रोनास टावर्स तथा मेनारा कुआलालंपुर का नाम आता है। पेट्रोनास टावर्स 88 मंजिली तथा 452 मीटर ऊंची जुड़वां इमारतें हैं।

* कुआलालंपुर की दूसरी भव्य इमारत 421 मीटर ऊंची ‘मेनारा कुआलालंपुर’ है जिस का निर्माण 1995 में हुआ था

* कुआलालंपुर का एक अन्य आकर्षण नगर के उत्तर में स्थित ‘बातू गुफाएं’ हैं। प्राकृतिक रूप से चूनापत्थरों से निर्मित ये गुफाएं वास्तव में हिंदुओं के पूजा स्थल हैं, गुफाओं तक पहुंचने के लिए 272 सीढि़यों की चढ़ाई चढ़नी पड़ती है

* कुआलालंपुर का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल ‘लेक गार्डन’ है जिस के अंतर्गत पक्षी पार्क, तितली पार्क, औरकिड पार्क तथा हिबिस्कस पार्क (गुड़हल पार्क) आते हैं। यहां पर यह बताया जा सकता है कि हिबिस्कस अर्थात गुड़हल मलयेशिया का राष्ट्रीय फूल है,

* नैशनल लाइब्रेरी यहां का प्रसिद्ध पुस्तकालय है जिस की नीली रंग वाली छत वास्तुकला का एक उत्तम नमूना है।

* इस के अलावा कुआलालंपुर में सुंदर तथा पुरानी वास्तुकला से युक्त अनेक भवन बने हैं जैसे यहां का पुराना रेलवे स्टेशन, सुलतान अब्दुल समद भवन इत्यादि। अन्य पर्यटन आकर्षणों में नैशनल मसजिद, पुत्रा मसजिद, नैशनल म्यूजियम आदि भी देखने योग्य हैं। कुआलालंपुर को प्राचीनता तथा आधुनिकता का संगम माना जाता है।

खानपान

* खानपान की दृष्टि से कुआलालंपुर में मलय तथा चीनी व्यंजनों की बहुलता है। इस के अलावा वहां अनेक भारतीय व्यंजन (अधिकतर मांसाहारी) भी उपलब्ध हैं। उदाहरण के लिए चिकन पुलाव, नान, परांठे, तंदूरी चिकन, कोरमा, मछली आदि के नाम गिनाए जा सकते हैं। दक्षिण भारतीय शाकाहारी व्यंजनों में इडली, दोसा, बड़ा, सांभर, चावल आदि भी खूब मिलते हैं।

जैंटिंग हाईलैंड्स

* कुआलालंपुर जाने के बाद यदि जैंटिंग हाईलैंड्स न देखा जाए तो कुआलालंपुर की यात्रा अधूरी मानी जाएगी। यह स्थान कुआलालंपुर से वहां के तीव्र वाहनों द्वारा लगभग 1 घंटे में पहुंचा जा सकता है। सागर तल से 2 हजार मीटर की ऊंचाई पर स्थित जैंटिंग हाईलैंड्स एक पर्वतीय स्थल है। जहां का तापमान 15 से 30 डिगरी सैल्सियस तक रहता है। यहां पर ठंडी हवा तथा खूबसूरत फिजाएं पर्यटकों का मन मोह लेती हैं। यह एक सुप्रसिद्ध मनोरंजन का केंद्र है जिसे दक्षिणपूर्व एशिया का ‘लास वेगास’ भी कहा जाता है।

मौसम

* यहां साल भर एक जैसा मौसम रहता है। इसलिए आप यहां कभी भी जा सकते हैं। वैसे जब भारत में कड़ाके की ठंड या फिर बहुत अधिक गरमी पड़ रही हो तो मलयेशिया का रुख कर सकते हैं। यहां का तापमान 21 डिगरी से 32 डिगरी तक रहता है।