नई दिल्ली: भीड़ भाड़ वाले इलाकों में महिलाओं और लड़कियों से छेड़छाड़ की बातें आम हैं। वक्त के साथ इन अबलाओं ने विरोध भी करना शुरू किया है, वहीं इनके आस पास की भीड़ का मनोविज्ञान शर्मनाक तरीके से बदला है।

अब छेड़छाड़ की घटनाओं में महिला की मदद से लोग कतराने लगे हैं। ऐसा ही कुछ वाकया हुआ दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा के साथ। दरअसल छात्रा को तब असहजता महसूस हुई जब बस में उनकी बगल में बैठा शख्स मास्टरबेट करने लगा। इस दौरान वो आदमी लड़की को बार बार टच भी कर रहा था।

लड़की ने पहले तो विरोध किया, इसके बाद उसने अपने मोबाइल से इस शर्मनाक वाकये को रिकॉर्ड करना शुरू किया। जब शख्स की हरकतें हद पार करने लगी तो लड़की ने चिल्लाकर मदद की गुहार लगाई। हैरानी ये कि किसी ने भी उसकी मदद की जहमत नहीं उठाई।

पीड़ित छात्रा (फोटो सौजन्य: ANI)
पीड़ित छात्रा (फोटो सौजन्य: ANI)

अधेड़ उम्र का आरोपी गोद में थैला रखकर बड़ी बेशर्मी से चलती बस में हस्तमैथुन करने लगा। उसे इस बात की भी परवाह नहीं थी कि बगल में कॉलेज की छात्रा बैठी है। बाद में पीड़ित लड़की ने इस घटना की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की। जिसकी सब निंदा कर रहे हैं।

ये घटना दक्षिणी दिल्ली के पॉश इलाके वसंत विहार इलाके की है। मामले में पीड़िता ने थाने में शिकायत भी दर्ज कराई है। हालांकि अभी तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। निर्भया कांड भी दिल्ली की पब्लिक बस में अंजाम दिया गया था। तब सीसीटीवी कैमरे लगाने और सुरक्षाकर्मियों की तैनाती जैसे बड़े बड़े वादे किये गए थे। जमीनी तौर पर इन वादों ने दम तोड़ दिया।

इससे पहले मलयाली एक्ट्रेस सानुषा के साथ ट्रेन में इसी तरह का वाकया हुआ था। उस मामले में भी सानुषा ने निराशा के साथ आरोप लगाया था कि सहयात्रियों ने उनकी कोई मदद नहीं की। सामाजिक जागरुकता को लेकर भीड़ का नकारात्मक रवैया हैरान करने वाला है। साथ ही आने वाले समाज में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चिंता पैदा करने वाला भी है।