नई दिल्ली: लोकसभा सदन में वाईएसआर कांग्रेस, एपी कांग्रेस और टीडीपी के जोरदार हंगामे के कारण कोई कार्यवाही नहीं हो पाई, जिसके कारण एक बार स्थगन के बाद लोकसभा की कार्यवाही पांच मार्च सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण 5 मार्च से शुरू होकर 6 अप्रैल तक चलेगा। आंध्रप्रदेश पुनर्गठन अधिनियम के प्रावधानों को लागू करने, विशाखा रेलवे जोन और कुछ अन्य मांगों को लेकर चार दिनों से लोकसभा में तेदेपा और वाईएसआर कांग्रेस के सदस्य हंगामा कर रहे है।

सदन की कार्यवाही आरंभ होने पर टीडीपी के सदस्य नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के निकट पहुंच गए थे। उनके साथ वाईएसआर कांग्रेस के सदस्य भी हाथों में तख्तियां लेकर खड़े होकर 'वी वांट जस्टिस' 'वादों का क्या हुआ' जैसे नारे लगाये। हंगामे के बीच अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल चलाने का प्रयास किया। लेकिन टीडीपी सदस्यों का हंगामा नहीं थम रहा था और वाईएसआर कांग्रेस सदस्य भी उनके साथ सदन में खड़े थे।

आंध्र के मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में कहा भी था कि आंध्र के विषय पर सदस्यों की आंकाक्षा के अनुरूप विशेष पैकेज और राजस्व हानि के महत्वपूर्ण मुद्दों को अगले कुछ दिनों में सुलझा दिया जाएगा। हंगामे को देखते हुए सभा को दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।