हैदराबाद : पूर्व मंत्री व वर्तमान विधान परिषद सदस्य गाली मुद्दुकृष्णम नायडू (70) का निधन हो गया। तीन महीने पहले हॉर्ट सर्जरी करा चुके मुद्दुकृष्ण नायडू को डेंगू के कारण दो दिन पहले हैदराबाद के गच्चीबावली केयर अस्पताल में भर्ती भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान कल देर रात उन्होंने आखिरी सांस ली।

मल्टी ऑर्गन फेल्योर

गाली के इलाज में जुटे केयर अस्पताल के डाक्टर कलाधर ने बताया कि डेंगू बुखार और रक्तचाप नियंत्रित नहीं होने की स्थिति में मुद्दुकृष्णम नायडू को उनके परिजन तिरुपति से गत रविवार को हैदराबाद लाए थे, जहां केवल दो दिन में मल्टी ऑर्गन फेल हो जाने से उनकी स्थिति और बिगड़ गई और उनका निधन हो गया।

पैतृक गांव में होगा अंतिम संस्कार

मुद्दकृष्णम नायडू का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव चित्तूर जिले के वेंकटापुरम में होगा और इस संबंध में तैयारियां शुरू हो गई हैं।

अध्यापक से मंत्री तक का सफर

गाली मुद्दुकृष्णम नायडू का जन्म 9 जून 1947 में हुआ था। अपने पैतृक गांव वेंकटापुरम में पढ़ाई के बाद अध्यापक बने। वर्ष 1983 में टीडीपी के संस्थापक व दिवंगत मुख्यमंत्री एनटीआर के बुलावे पर वे राजनीति में आए। टीडीपी की टिकट पर वे छह बार विधायक चुने गए और वर्तमान में विधान परिषद के सदस्य थे। गाली के निधन पर कई राजनीतिक प्रमुखों ने शोक प्रकट किया है।