उज्जैन : देश के प्रमुख ज्योतिर्लिगों में से एक मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकालेश्वर मंदिर को स्वच्छ भारत मिशन के तहत भारत सरकार ने फेस दो में देश के 10 स्थलों में स्वच्छ आइकॉनिक स्थल के तौर पर चुना है।

आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी के अनुसार, महाकाल मंदिर स्वच्छ आइकॉनिक स्थल है, और इसे स्वच्छ भारत मिशन के एक गोपनीय सर्वेक्षण में चुना गया है। स्वच्छ आइकॉनिक घोषित होने वाला मध्य प्रदेश का यह पहला मंदिर है।

इन्हें भी पढ़ें

बीते साल 7000 भारतीय धनकुबेरों ने देश से तोड़ा नाता: रिपोर्ट

पहले पढ़ी नमाज, फिर मदरसे में मफ्ती ने नाबालिग से किया कुकर्म

रेप का मुकदमा वापस नहीं लेने पर आरोपी ने फिर किया दुष्कर्म का प्रयास

आधिकारिक ब्योरे के मुताबिक, नेशनल हाइड्रोपॉवर कंपनी द्वारा कॉरपोरेट सोशल एक्टिविटी के अंतर्गत मंदिर को 7़ 92 करोड़ रुपये देने की घोषणा की गई थी। इसमें से 1़ 60 करोड़ रुपये का प्रथम भुगतान मंदिर को एडवांस्ड मैकेनाइज्ड क्लीनिंग एंड फैसिलिटी मैनेजमेंट के अंतर्गत प्राप्त हो गया है।

इस राशि का उपयोग आने वाले समय में सौर ऊर्जा, आरओ वाटर यूनिट, ई-रिक्शा, कैप्टिव सीवेज ट्रीटमेंट, अन्नक्षेत्र का आधुनिकीकरण, लाइफ सपोर्ट एंबुलेंस तथा लॉकर्स आदि में किया जाएगा।