नई दिल्ली: 26 जनवरी के दिन कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान चंदन नामक युवक की हत्या के बाद ये मामला सुर्खियों में है। अब सोशल मीडिया पर रैली में शामिल चंदन का वीडियो वायरल हो रहा है। हालांकि हम अपनी तरफ से इस वीडियो की सत्यता का दावा नहीं कर रहे हैं। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर चंदन गुप्ता का आखिरी वीडियो बताया जा रहा है।

आप देख सकते हैं चंदन गुप्ता और उनके साथ बाईक पर सवार होकर नारे लगाते हुए तिरंगा यात्रा पर निकले हैं। इस दौरान फायरिंग की दो तीन आवाजें भी आ रही हैं। हालांकि ये पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता कि ये फायरिंग पिस्तौल या हथियार से की गई थी, या फिर ये किसकी ओर से की गई थी।

यह भी पढ़ें:

सपा का आरोप, कासगंज हिंसा के लिए योगी सरकार जिम्मेदार, DG का नया फरामन जारी

तिरंगा यात्रा में शामिल युवा पूरे जोश में नजर आ रहे हैं। ये सभी वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाते नजर आए। वीडियो में 'गोली मारो' की आवाज़ भी अस्पष्ट तरीके से सुनी जा सकती है।

यह भी पढ़ें:

कासगंज हिंसा: रासुका के तहत होगी कार्रवाई, मृतक के परिजनों को 20 लाख का मुआवजा

अगर ये वीडियो वास्तविक है तो कासगंज हिंसा की जांच में जुटी पुलिस को अहम सुराग मिल सकते हैं। बता दें कि इसी यात्रा के दौरान चंदन को गोली मारी गई थी। जिसके बाद बड़े इलाके में हिंसा की आग भड़क गई। इस हिंसा में दो लोग बुरी तरह घायल भी हुए थे। साथ ही कई भवनों और बसों को जलाया गया था। हालांकि फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण और पुलिस के नियंत्रण में है।

वहीं मृतक चंदन के परिवारवालों ने चंदन को शहीद का दर्जा देने की सरकार से मांग की है। सरकार की ओर से दिया गया बीस लाख का मुआवजा परिजनों ने ठुकरा दिया है।

इस घटना पर राज्यपाल राम नाईक ने कड़ी टिप्पणी करते हुए इसे राज्य की छवि पर धब्बा करार दिया था। राज्य सरकार ने भी तत्काल कार्रवाई करते हुए पुलिस अधीक्षक को जिले से हटा दिया था।

यूपी पुलिस ने एलान किया है कि हिंसा में शामिल लोगों के ऊपर रासूका लगाई जाएगी। साथ ही इनकी गिरफ्तारी के लिए व्यापक पैमाने पर कार्रवाई की जाएगी। अभी तक सौ से अधिक लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है।

हिंसा में कथित भूमिका के लिए सौ से अधिक लोगों को जेल भेजा जा चुका है ।