नई दिल्ली: नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की अगवानी की। उस पर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने खिल्ली उड़ाई है। दरअसल प्रोटोकॉल तोड़कर प्रधानमंत्री ने नेतेन्याहू को रिसीव किया। इजरायली पीएम को जिस तरीके से मोदी ने गले लगाया, ऐसा लगा कि दो बिछड़े भाई वर्षों बाद गले मिल रहे हैं।

इस पर कांग्रेस ने वीडियो ट्वीट कर मोदी की 'हग डिप्लोमैसी' का मजाक उड़ाया। कांग्रेस के इस रवैये पर अब बीजेपी के नेता तन गए हैं। उन्हें लगता है कि विदेशी मेहमान की अगवानी पर कांग्रेस का ऐसा मजाक देश की संस्कृति के खिलाफ है।

दरअसल कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी की हग डिप्लोमैसी का मजाक उड़ाते हुए कई वीडियो पोस्ट किए हैं। जिनमें दुनियाभर के दिग्गज नेता शुमार हैं, इनमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनोल्ड ट्रम्प, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे, मेक्सिको के राष्‍ट्रपति एनरिक पेना नितो, अबू धाबी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायेद और फ्रांस के पूर्व राष्‍ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद जैसे नेताओं से गले मिलते देखा जा सकता है।

कांग्रेस इतने पर नहीं रुकी, बल्कि जर्नल चांसलर एजेंला मर्केल और शिंजो अबे की पत्नी समेत कुछ नेताओं से हाथ मिलाते हुए मोदी कंफ्यूज हो गए थे। जिसपर कांग्रेस ने वीडियो के जरिए खिल्ली उड़ाई है।

ट्विटर पर कांग्रेस के पोस्ट लिखा, ''इजरायली पीएम नेतन्याहू भारत पहुंचे हैं। उम्मीद है कि हमें मोदी जी के हग्स (गले लगना) देखने को मिलेंगे।''

बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस की टिप्पणी की तीखी आलोचना की है।

वहीं इन सब राजनीति से परे नेतन्याहू ने ट्वीट कर कहा, ''मेरे सबसे अच्छे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया। उन्होंने भारत पहुंचने पर पर्सनली एयरपोर्ट आकर मुझे चौंका दिया। हम साथ-साथ दोनों देशों के रिश्तों को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।''

अब देखना है कि पीएम मोदी की हग डिप्लोमैसी वाकई क्या कमाल दिखाती है। इजरायली प्रधानमंत्री के इस दौरे का राजनयिक फायदा भारत किस तरह से उठाता है, देखने वाली बात होगी।