नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके इजरायल समकक्ष बेंजामिन नेतन्याहू नई दिल्ली में तीन मूर्ति चौक का नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा चौक करने के मौके पर यहां तीन मूर्ति मेमोरियल में आज एक औपचारिक समारोह में हिस्सा लेंगे।

सरकारी सूत्रों ने बताया कि दोनों नेता स्मारक पर पुष्पांजलि देंगे और आगंतुक पुस्तिका में दस्तखत करेंगे। नेतन्याहू छह दिन की भारत यात्रा पर आ रहे हैं। तीन मूर्ति पर कांस्य की तीन मूर्तियां हैदराबाद, जोधपुर और मैसूर लैंसर का प्रतिनिधित्व करती हैं जो 15 इंपीरियल सर्विस कैवलरी ब्रिगेड का हिस्सा थे।

ब्रिगेड ने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान 23 सितंबर 1918 में हाइफा शहर पर हमला किया था और उसे जीत लिया था। प्रथम विश्व युद्ध में शहर की आजादी के लिए 44 भारतीय सैनिकों ने अपने प्राण का बलिदान दिया था। आज तक, 61वीं कैवलरी ब्रिगेड 23 सितंबर को स्थापना दिवस या ‘हाइफा दिवस' मनाती है।

यह भी पढ़ें :

प्रोटोकॉल तोड़कर इजरायली ‘दोस्त’ नेतन्याहू का स्वागत करेंगे पीएम मोदी