हैदराबाद : संक्रांति त्यौहार मनाने नगर के लिए लोग अपने-अपने गांवों की ओर निकल पकड़े हैं। इसी के चलते शहर के मुख्य बस स्टेशन और रेलवे स्टेशन यात्रियों की भीड़ से खचाखच भर गये हैं। हजारों की संख्या में लोग अब तक शहर से गांवों की ओर जा चुके हैं।

फिर भी शनिवार को यात्रियों की सर्वाधिक भीड़ देखी गयी। क्योंकी शुक्रवार सरकारी कार्यालय काम कर रहे थे। इसी के चलते कार्यालयों में काम समाप्त करके लोग बस और रेलवे स्टेशन का रास्ता पकड़े। मुख्य रूप से सिकंदराबाद, नामपल्ली व काचीगुड़ा से जाने वाली सभी ट्रेने यात्रियों से खचाखच भर गये।

बता दें कि सिकंदराबाद से हर रोज 80 एक्सप्रेस और 100 पैसेंजर ट्रेने चलायी जाती है। रेलवे ने संक्रांति त्यौहार के चलते 10 ट्रेने अतिरिक्त चलाने का फैसला लिया है। फिर भी यात्रियों की भीड़ में किसी प्रकार कमी नहीं आयी। यात्रियों का लक्ष्य किसी भी हाल में गांव जाना है। इसके चलते यात्रियों को अनेक मुश्किलों का सामना करते हुए गांवों को जाना पड़ा रहा है।

ये भी पढ़ें :

पर्व विशेष : इसलिए ऐसे मनाई जाती है ‘लोहड़ी’, ये गाए जाते हैं गाने

ऐसे मनाया जाता है भोगी का त्यौहार, जानिए उससे जुड़ी परंपराएं और मान्यताएं

दूसरी ओर टीएसआरटीसी पिछले चार-पांच दिनों से 3,000 अधिक बसें चला रही है। शनिवार को एक हजार बसें अतिरिक्त चलायी। अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को पांच लाख से अधिक लोग गांवों को गये हैं। इन पांच-छह दिनों में नगर से 20 लाख से अधिक लोग गांवों की ओर चले गये हैं।

इसी क्रम में सीमांत क्षेत्रों में हमेशा से अधिक वाहनों के चलते सड़कों पर लंबी-लंबी कतारे हैं। अधिक जगहों पर ट्रैफिक जाम होने की भी खबरे हैं। टोलगेट भी वाहनों की लंबी-लंबी कतारे हैं।

ये भी पढ़ें :

लोहड़ी के दिन पंजाबी सूट में दिखें आकर्षक

‘वारिस’ में लोहड़ी की धूम

यात्रियों की भीड़ को देखते हुए विशेष बसों, ट्रेनों और निजी बस चालकों ने किराये में 20 से 30 प्रतिशत की वद्धि कर दी है। फिर भी लोगों की यात्रा काफी मुश्किलों के साथ ही करनी पड़ रही है।